Tuesday, October 4, 2022
Homeदेश-दुनियाकेन्द्र कर्मचारियों को मिला दीपावली का तोहफा, बढ़ा 3 प्रतिशत महंगाई भत्ता

केन्द्र कर्मचारियों को मिला दीपावली का तोहफा, बढ़ा 3 प्रतिशत महंगाई भत्ता

नई दिल्ली। मोदी सरकार ने केन्द्र कर्मचारियों को दीपावली का तोहफा दिया है। दरअसल केन्द्र सरकार ने उनके महंगाई भत्ते और महंगाई राहत में 3 फीसदी की बढ़ोत्तरी की है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक केंद्रीय मंत्रिमंडल ने गुरुवार को केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के लिए महंगाई भत्ता (DA) और महंगाई राहत (DR) तीन फीसद बढ़ा दिया है।

बताया जा रहा है कि सरकार के इस निर्णय के बाद देश के एक करोड़ से अधिक कर्मचारियों व पेंशनरों को यह दिवाली सौगात मिली है। अब उन्हें कुल 31 फीसदी डीए मिलेगा। बताया गया कि गुरुवार सुबह हुई कैबिनेट बैठक की समाप्ति के बाद केद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने यह घोषणा की। केंद्रीय मंत्री ठाकुर के मुताबिक डीए में बढ़ोतरी से केंद्र सरकार के कम से कम 47 लाख कर्मचारियों व 68 लाख पेंशनरों को लाभ होगा।

बताया गया कि यह लाभ एक जुलाई 2021 से प्रभावी माना जाएगा। उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार ने साल 2020 में कोरोना महामारी के कारण केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के लिए महंगाई भत्ते और महंगाई राहत लाभों को अस्थायी रूप से रोक दिया था। बताया गया कि केंद्र सरकार ने इससे पहले जुलाई में अपने कर्मचारियों का डीए 11 फीसदी बढ़ाकर कुल 28 फीसदी कर दिया था। इससे पहले 17 फीसदी डीए दिया जा रहा था।

यूं समझिए डीए का गणित

केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में साल में दो बार वृद्धि की जाती है। यदि किसी कर्मचारी का मूल वेतन 20 हजार रुपये है तो उसे महंगाई भत्ते के तौर पर अभी 5,600 रुपये मिल रहे हैं। ये रकम मूल वेतन का 28 फीसदी है। बताया जा रहा है कि डीए में 3 फीसदी का इजाफा होने के बाद कर्मचारी को डीए के तौर पर 6,200 रुपये मिलेंगे। यानी इसमें 600 रुपये का इजाफा होगा। बताया गया कि मूल वेतन बढ़ने से महंगाई भत्ते की कुल रकम में भी बढ़ोतरी हो जाएगी।

कैबिनेट में इस मास्टर प्लान को भी मिली मंजूरी

मिली जानकारी के मुताबिक कैबिनेट ने पीएम गतिशक्ति नेशनल मास्टर प्लान के क्रियान्वयन को भी मंजूरी दे दी। बताया जा रहा है कि पीएम नरेंद्र मोदी ने 13 अक्तूबर को ‘प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना’ की शुरुआत की थी। इस अवसर पर पीएम मोदी ने कहा था कि प्रधानमंत्री गति शक्ति-राष्ट्रीय मास्टर प्लान 21वीं सदी के भारत की गति को शक्ति देगा। अगली पीढ़ी के इंफ्रास्ट्रक्चर और ‘मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी’ को इस राष्ट्रीय योजना से गति मिलेगी।

वहीं केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर के मुताबिक पीएम गति शक्ति नेशनल मास्टर प्लान की मॉनिटरिंग थ्री टियर सिस्टम में की जाएगी। इसकी अध्यक्षता कैबिनेट सचिव करेंगे। बताया गया कि इनकी अध्यक्षता में एक सचिवों का अधिकार प्राप्त समूह बनेगा। बताया गया कि गति शक्ति मास्टर प्लान का उद्देश्य मल्टी मोडल कनेक्टिविटी को लागू करना, उसकी निगरानी करना है।

इसे भी पढ़ें..

Google search engine
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments