एक लाख के इनामी डकैत बदन सिंह को आगरा पुलिस ने मार गिराया

569
One lakh prize dacoit Badan Singh was killed by the Agra Police
आगरा के ट्रांसयमुना कॉलोनी निवासी डॉ. उमाकांत गुप्ता के अपहरण की साजिश धौलपुर के बदमाश बदन सिंह ने रची थी।

आगरा। चंबल के बीहड़ों में डेरा डालने वाला कुख्यात डकैत बदन सिंह को आगरा पुलिस ने मार गिराया। आपकों बता दें कि बदन सिंह यूपी, एमपी और राजस्थान की पुलिस के लिए सिरदर्द बना हुआ था। अभी कुछ दिन पहले अपनी एक महिला मित्र के जरीए आगरा के बड़े डॉक्टर का फिरौती के लिए अपहरण किया था। जिसे आगरा पुलिस ने मुस्तैदी दिखाते हुए 31 घंटे में छुड़ा लिया था। तभी से आगरा पुलिस उस पर नजर गड़ाए हुई थी। मौका मिलते ही उसे मुठभेड़ में ढेर कर दिया। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मुठभेड़ के दौरान एसएसपी आगरा एवं एसपी वेस्ट व अन्य अधिकारियों की बुलेट प्रूफ जैकेट में गोली लगी। पुलिस टीम के 2 सदस्य भी मुठभेड़ में घायल हुए हैं।

आगरा के ट्रांसयमुना कॉलोनी निवासी डॉ. उमाकांत गुप्ता के अपहरण की साजिश धौलपुर के बदमाश बदन सिंह ने रची थी। उसने महिला मित्र संध्या उर्फ मंगला ने अंजलि बनकर डॉक्टर से बात की थी। उनसे नौकरी के बहाने मेलजोल बढ़ाया था। इसके बाद साजिश रचकर अगवा कर ले गई थी।। डॉक्टर को 31 घंटे बाद ही पुलिस ने मुक्त करा लिया था। बदन सिंह दस्यु केशव गुर्जर के लिए काम करता था। तभी से बदन सिंह की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीमें लगी हुई थीं।

एडीजी जोन राजीव कृष्ण ने बदन सिंह पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया था। बदमाश बदन सिंह को पकड़ने के लिए पुलिस की एक टीम धौलपुर में ही डेरा डाले हुए थी। बीहड़ में पुलिस बदन सिंह की तलाश कर चुकी थी। मगर, वह हाथ नहीं आ रहा था। मौसम खराब होने की वजह से पुलिस के लिए बीहड़ में जाना मुश्किल हो रहा था लेकिन कछपुरा क्षेत्र में मुठभेड़ में वह मारा गया।

इसे भी पढ़ें…

हाईप्रोफाइल हत्याकांड: डॉक्टर भाभी ने देवर को नपुंसक कहा तो हथौड़े से सिर फोड़ डाला

ट्रेन पकड़ने के फेर में कार अनियंत्रित होकर डिवाइडर से टकराई, दादी-पोते समेत तीन की मौत

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here