Friday, September 30, 2022
Homeउत्तर प्रदेशवाराणसीहाईप्रोफाइल हत्याकांड: डॉक्टर भाभी ने देवर को नपुंसक कहा तो हथौड़े से...

हाईप्रोफाइल हत्याकांड: डॉक्टर भाभी ने देवर को नपुंसक कहा तो हथौड़े से सिर फोड़ डाला

वाराणसी। वाराणसी में पारिवारिक विवाद में शहर की मशहूर डॉक्टर सपना गुप्ता ने अपने देवर को नंपुसक कह दिया था तो आरोपित देवर ने आज मौका पाकर भाभी की बेरहमी से हत्या कर दी। आरोपी के सिर पर इतना खून सवार था कि उसने अपनी भाभी को इतनी बुरी मौत दी कि सुनकर रूह कांप जाए। यह मामला वाराणसी के महमूरगंज में संत रघुवर नगर कॉलोनी में हुआ। यहां पर कैंसर स्पेशलिस्ट डॉ. सपना गुप्ता दत्ता रहती है। डॉक्टर गुप्ता के देवर ने उनकी बेरहमी से हत्या कर दी। आरोपी देवर अनिल कुमार दत्ता कांग्रेस के पूर्व विधायक डॉ. रजनीकांत दत्ता का बेटा है। आरोपित देवर ने डॉ. सपना के सिर पर हथौड़े और कैंची से वार किया। इसमें उसके नौकर ने भी मदद की।भाभी की हत्या के बाद आरोपी देवर ने सिगरा थाने पहुंचकर सरेंडर कर दिया। पुलिस को उसने बताया कि उसकी भाभी उसे नपुंसक बोल रही थी, इसलिए उसने मार दिया। पुलिस ने हथौड़े और कैंची को बरामद कर लिया है। हत्या में मदद करने वाले नौकर की तलाश जारी है।

डॉक्टर का देवरों से चल रहा था विवाद

यहां आपकों बता दें कि संत रघुवर नगर कॉलोनी के रहने वाले डॉ. रजनीकांत दत्ता 1985 में कांग्रेस से विधायक थे। उनके पांच बेटे थे। इसी साल अप्रैल में एक बेटे की कोरोना से मौत हो गई थी। इसके बाद से डॉ. रजनीकांत के 4 बेटों के बीच संपत्ति को लेकर विवाद चल रहा है। एक तरफ डॉ. सपना दत्ता व उनके पति डॉ. अंजनी दत्ता, जबकि 3 बेटे एक दूसरी तरफ हैं। डॉ. सपना और उनके पति का क्लीनिक उनके पैतृक घर के ग्राउंड फ्लोर पर है। डॉ. सपना के पति भी फिजिशियन हैं।

बूढ़े मां-बाप से मिलने गया था अनिल

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आरोपी देवर अनिल दशाश्वमेध की शकरकंद गली का रहने वाला है। उसके तीन मेडिकल स्टोर हैं। उसने बताया कि वह अपने बूढ़े मां-बाप से मिलने के लिए गया था। इस दौरान उसकी भाभी डॉ. सपना से किसी बात को लेकर बहस हो गई। उसकी भाभी ने उसे नपुंसक कहा तो उसे गुस्सा आ गया। इसके बाद उसने पास पड़ा हथौड़ा और कैंची उठाकर भाभी के सिर पर वार कर दिया। घटनाके वक्त डॉ. सपना का परिवार भी वहीं था। सब महिला डॉक्टर को अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उनको मृत घोषित कर दिया। इसके बाद अनिल ने सिगरा थाने में जाकर समर्पण कर दिया। उसका नौकर रौशन कहीं भाग निकला है।

आरोपी अनिल ने पुलिस को बताया कि पिता की 6 करोड़ की संपत्ति और करीब 80 लाख की एफडी को लेकर एक दिन पहले भी उसके और उसकी भाभी के बीच विवाद और मारपीट हुई थी। इसे लेकर दोनों ने एक-दूसरे के खिलाफ सिगरा थाने में तहरीर दी थी। पिता के द्वारा बैंक में जमा किए गए पैसे को भाभी अपना बताती हैं। जबकि उसमें हम सभी भाइयों का बराबर का हक है। उधर, वारदात के बाद डॉ. सपना के पति और उनकी दोनों बेटियों का रो-रोकर बुरा हाल था।

Google search engine
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments