Tuesday, October 4, 2022
Homeउत्तर प्रदेशअमेठी में सड़क केकिनारे सो रहे मछुआरों को वाहन ने कुचला दो...

अमेठी में सड़क केकिनारे सो रहे मछुआरों को वाहन ने कुचला दो की मौत

अमेठी। यूपी के अमेठी जिले में सड़क किनारे सो रहे मछुआरों को बुधवार रात किसी वाहन ने कुचल दिया। इस हादसे में 2 की मोत्पू हो गई, वहीं एक की हालत गंभीर है। यह हादसा पूर्वांचल एक्सप्रेस वे की सर्विस रोड पर हुआ। यहां दिन भर काम करने के बाद तीन युवक पुआल बिछाकर सो रहे थे,इसी दौरान सीमेंट ग्राइंडर वाहन वहां से गुजरा, वाहन ने रौंद डाला।

वाहन का चक्का चढ़ने से हुसैनपुर के पासिन गांव निवासी दो युवकों की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं एक की हालत नाजुक है जिसका निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेज दिया है।

मछली पकड़ने गए थे तीनों युवक

मालूम हो कि तीनों युवक बाराबंकी जिले की सीमा पर स्थित एक नाले में मछली पकड़ने गए थे। बुधवार को भी गांव निवासी कुलदीप उम्र 16 वर्ष व प्रदीप 18 वर्ष पुत्र धनीराम, रामचन्द्र उम्र 35 वर्ष पुत्र राम प्रसाद व संजीत उम्र 12 वर्ष पुत्र रामसुख मछली पकड़ने गए हुए थे। नाले के रास्ते पानी के साथ मछलियां न बह जाएं इस डर से वह सब रात में एक्सप्रेस वे के बगल निकले सम्पर्क मार्ग पर सो रहे थे।

रात करीब 3.30 बजे एक्सप्रेस वे पर काम करने वाली सीमेंट ग्राइंडर वाहन उसी रास्ते से निकल रही थी। अचानक चालक की लापरवाही से मशीन इन तीनों युवकों पर चढ़ गई। इसमें कुलदीप व राम चन्दर की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं संजीत को गम्भीर चोटें आई हैं। उसका प्राइवेट अस्पताल में इलाज चल रहा है। प्रदीप अलग सो रहा था जब उसने संजीत के चिल्लाने की आवाज सुनी तो उठा। जब तक वह कुछ समझता मशीन का चालक वहां से भाग निकला।

सूचना पर पहुंची पुलिस

हादसे की सूचना पर पहुंचे स्थानीय पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेज दिया। सीओ मनोज कुमार यादव ने भी घटना स्थल पर पहुंच कर जायजा लिया।नही पहुंचा गश्ती दल: हादसे के बाद भी पूर्वांचल एक्सप्रेस वे की कार्यदायी संस्था का न तो कोई जिम्मेदार अधिकारी पहुंचा न ही इस पर गश्त करने वाला गश्ती दल ही। गश्ती दल का वाहन घटना के 6 घंटे बाद वहां पहुंचा।

सूचना मिलते ही मच गया कोहराम

जैसे ही दो युवकों की मौत के खबर उनके घर पहुंची तो घर में कोहराम मच गया। परिवारीजनों का रो रो कर बुरा हाल है। परिवारीजनों का कहना है कि मछलियों के बह जाने की बात सोच वहां न सोते तो उनकी जान बच गई होती। कुलदीप की मौत के सदमे से उसके मां बाप का बुरा हाल है। राम चन्दर की बेवा मां अपने पुत्र की मौत पर बिलख बिलख कर रो रही है।पुलिस उपाधीक्षक मनोज कुमार यादव कहते हैं कि हादसा ह्रदय विदारक है। शवों को पीएम के लिए भेज दिया गया है। मृतकों व चोटिल के परिवारवालों की यथासंभव मदद की जाएगी।

इसे भी पढ़ें…

 

Google search engine
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments