लखीमपुर खीरी में बवाल के बाद प्रियंका गांधी वहां पहुंचीं, प्रशासन ने पीड़ितों से मिलने से रोका

193
Priyanka Gandhi reached there after the ruckus in Lakhimpur Kheri, the government prevented them from meeting the victims
किसानों की मौत के बाद मौत के बाद पूरे इलाके में तनाव है। कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी समेत कई विपक्षी नेता वहां पहुंचने की कोशिश में जुटे हैं।

लखीमपुरखीरी। यूपी के लखीमपुर खीरी में रविवार को हुए बवाल के दौरान चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत के बाद पूरे देश के राजनीतिक दलों में उबाल उठता दिख रहा है। इस मौके पर सभी दलों के प्रमुख चेहरे किसानों के बीच पहुंचना चाह रहे है। इस दौरान सरकार ने किसी को भी पीड़ित परिवार से मिलने नहीं देना चाह रही है। किसानों की मौत के बाद मौत के बाद पूरे इलाके में तनाव है। कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी समेत कई विपक्षी नेता वहां पहुंचने की कोशिश में जुटे हैं।

आपकों बता दें कि अभी तक इस बवाल के पीछे गत सप्ताह पहले केंद्रीय गृह राज्यमंत्री और खीरी के सांसद अजय मिश्र ‘टेनी’ के एक बयान को बताया जा रहा है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कंद्रीय मंत्री के बयान नाराज प्रदर्शनकारी किसानों ने रविवार को मंत्री के गांव में आ रहे उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के शांतिपूर्वक विरोध का ऐलान किया था। जैसे ही मंत्री समर्थकों की गाड़ियां उपमुख्यमंत्री को लेने निकलीं तो वहां लाठी-डंडों से लैस हजारों प्रदर्शनकारियों ने उन पर पथराव कर एक गाड़ी को आग लगा दी। इसी बीच एक बेकाबू वाहन किसानों पर जा चढ़ा।

Priyanka Gandhi reached there after the ruckus in Lakhimpur Kheri, the government prevented them from meeting the victims
लखीमपुर खीरी में बवाल के बादकांग्रेस नेता प्रियंका गांधी लखीमपुर पहुंच गई हैं लेकिन उन्हे किसी भी पीड़ित से मिलने नहीं मिलने दिया गया गया है।

इसमें चार किसानों की मौत हो गई, जबकि किसानों के हमले में चार भाजपा समर्थक मारे गए। दोनों पक्षों के मरने वालों की संख्या अधिक बताई जा रही है, लेकिन पुष्टि नहीं हो सकी है। इस बवाल की जानकारी होते ही राजधानी लखनऊ से आला अफसर लखीमपुरखीरी पहुंच रहे है। इस दौरान वहां इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। शांति व्यवस्था बहाल करने के लिए तिकुनिया में भारी संख्या में पुलिस फोर्स भी तैनात किया गया।

सीएम बोले करेंगे सख्त कार्रवाई

बवाल की जानकारी होते ही मुख्यमंत्री योगी गोरखपुर प्रवास छोड़ राजधानी लौट आए। अफसरों के साथ बैठक कर कहा है कि घटना की तत्काल जांच की जाएगी और कोई दोषी बख्शा नहीं जाएगा। उधर, टेनी ने मरने वालों की संख्या पांच बताते हुए आरोप लगाया है कि घटना का कारण पथराव और किसानों का उग्र प्रदर्शन था।

आपकों बता दें कि खीरी के सांसद और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के पैतृक गांव बनवीरपुर में आयोजित दंगल का समापन व पुरस्कार वितरण समारोह था। जिसमें प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को बतौर मुख्य अतिथि शामिल होना था। बताया जाता है कि मुख्य अतिथि के आने की सूचना पाकर कई वाहन उनकी अगवानी करने बनवीरपुर के लिए निकले। तभी रास्ते में पहले से ही हजारों की संख्या में प्रदर्शन कर रहे आंदोलनकारियों ने इन वाहनों के काफिले को घेर लिया। जिससे अनियंत्रित होकर वाहन प्रदर्शनकारियों पर चढ गया।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, गुस्साई भीड़ ने भाजपा नेता आशीष मिश्र मोनू के वाहन पर हमला बोल दिया। इसमें आशीष तो भाग गए लेकिन, ड्राइवर हरिओम प्रदर्शनकारियों के हत्थे चढ गया। ड्राइवर को पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया गया। वहीं, एक अन्य गाड़ी के चालक की भी पिटाई से मौत हुई है। बताया जाता है कि दलजीत सिंह, गुरुविंदर सिंह निवासी नानपारा, नक्षत्र सिंह निवासी धौरहरा की भी मौत हो गई है। दो अन्य लोग बहराइच जिले के थे। इस आगजनी में सांसद पुत्र आशीष मिश्रा मोनू की थार जीप प्रदर्शनकारियों ने आग के हवाले कर दिया। साथ ही कई अन्य वाहनों में भी आग लगा दी। मरने वालों में चार लोगों की पहचान नहीं हो पाई है।

प्रदर्शनकारी की टी-शर्ट पर भिंडरावाले

कृषि कानूनों के विरोध में प्रदर्शन कर रहे इन किसानों में भिंडरावाले के समर्थक भी थे। एक वायरल वीडियो में प्रदर्शनकारी की टी-शर्ट पर भिंडरावाले की फोटो साफ नजर आ रही है। लगभग सभी प्रदर्शनकारी लाठी-डंडों से लैस थे, जबकि दावा किया जा रहा है कि उपमुख्यमंत्री को काला झंडा दिखाने के लिए जमा थे।

प्रियंका गांधी खीरी पहुंची

लखीमपुर खीरी में बवाल के बादकांग्रेस नेता प्रियंका गांधी लखीमपुर पहुंच गई हैं लेकिन उन्हे किसी भी पीड़ित से मिलने नहीं मिलने दिया गया गया है। किसान नेता राकेश टिकैत भी खीरी पहुंच गए हैं। जिला प्रशासन अभी तक चार किसानों तो किसान यूनियन आठ किसानों के मारे जाने की बात कह रहा है।

इस बीच लखीमपुर के बनबीरपुर गांव में राकेश टिकैत ने मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि हम पहले किसानों और ग्रामीणों से मिलेंगे और उनके साथ स्थिति पर चर्चा करेंगे। ग्रामीणों और किसानों से चर्चा के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। उनका फैसला मान्य होगा। इधर यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी ने दावा किया है कि प्रियंका गांधी को हरगांव से गिरफ्तार किया गया। प्रियंका के अलावा कई और नेता भी आज लखीमपुर खीरी पहुंचने वाले हैं।

आज भाकियू का देशव्यापी प्रदर्शन

यूपी के लखीमपुर खीरी में हुए बवाल के बाद किसान यूनियन (भाकियू) ने रविवार को मुजफ्फरनगर में पंचायत बुलाई और सोमवार को देश भर के हर जिले में विरोध प्रदर्शन करने का फैसला किया। भाकियू के मीडिया प्रभारी धर्मेंद्र मलिक ने बताया कि यह फैसला राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत की अध्यक्षता में सिसौली गांव में हुई पंचायत में लिया गया। मलिक ने कहा यह तय किया गया है कि किसानों के समूह हर जिले में जिला प्रशासन के कार्यालयों के बाहर प्रदर्शन करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here