डैमेज कंट्रोल में जुटी बीजेपी जा सकती है, केंद्रीय गृह राज्यमंत्री की कुर्सी…

319

अवनीश पांडेय – लखीमपुर खीरी। लखीमपुर में हुए हिंसा मामले को लेकर बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व का मंथन चल रहा है। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह को दिल्ली बुलाया गया है। स्वतंत्र देव के अलावा यूपी प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह और संगठन मंत्री सुनील बंसल को भी दिल्ली बुलाया गया है। विपक्ष लगातार केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी को इस्तीफा दिलाने की मांग कर रही है अब बीजेपी भी इस मुद्दे को तूल  ना देने और विपक्ष के मुद्दे को ध्वस्त करने के लिए मंथन कर रही है।

लखीमपुर घटना को लेकर बीजेपी डैमेज कंट्रोल में जुटी है। रविवार को स्वतंत्र देव सिंह ने भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में कहा कि यूपी बीजेपी अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने पार्टी कार्यकर्ताओं को नसीहत देते हुए कहा कि नेतागिरी का मतलब लूटने नहीं आए हैं, ना फ़ॉर्चूनर से किसी को कुचलने आए हैं।  वोट मिलेगा तो आपके व्यवहार से मिलेगा।

केन्द्रीय मंत्री लखनऊ में तलब

लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी को बर्खास्त करने पर लगाए जा रहे कयासों के बीच भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने अजय मिश्र को लखनऊ बुलाया।  जिसके बाद खबर आई कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने स्वतंत्र देव सिंह को दिल्ली बुलाया है।

मंत्री के हटाने का यह भी है कारण

महाराष्ट्र के पुलिस अधिकारी सचिन वाझे के साथ जब गृहमंत्री अनिल देशमुख का नाम सामने आया तो कोर्ट ने उन्हें पद से हटाने की सिफारिश की थी।  जिसके बाद से अनिल देशमुख को पद छोड़ना पड़ा कोर्ट ने हवाला दिया की “इतने उच्च पद पर रहते हुए किसी व्यक्ति का निष्पक्ष जांच नहीं किया जा सकता”।  इस कारण से केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र के मंत्री पद पर भी तलवार लटकी हुई है। वहीं बीजेपी यूपी आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए ज्यादा जोखिम लेना नहीं चाह रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here