ग्राफी ने शिक्षा प्रौद्योगिकी स्टार्टअप स्पाई को 250 लाख डॉलर्स में अधिग्रहित किया

741
Graphi acquires education technology startup Spy for $2.5 million
स्पाई को 2014 में संदीप सिंह, गौरव कक्कर, अनिरुद्ध सिंह और विजय सिंह ने शुरू किया था।

मुम्बई-बिजनेस डेस्क। अनअकैडमी ग्रुप की कंपनी ग्राफी ने शिक्षा प्रौद्योगिकी प्लेटफार्म स्पाई को 250 लाख डॉलर्स में अधिग्रहित करने की घोषणा मंगलवार को की। इस अधिग्रहण से ग्राफी को अपनी उत्पाद प्रस्तुतियों को अनुकूलित करने के लिए सक्षम बनाते हुए और उनकी पहुंच को बढ़ाते हुए क्रिएटर इकोसिस्टम में ग्राफी के अग्रणी स्थान को और भी मजबूत करता है। अधिग्रहण के बाद, स्पाई स्वतंत्र रूप से काम करना जारी रखेगी।

स्पाई को 2014 में संदीप सिंह, गौरव कक्कर, अनिरुद्ध सिंह और विजय सिंह ने शुरू किया था। यह प्लेटफार्म कंटेंट क्रिएटर्स को ऑडियो और वीडियो ट्यूटोरियल, पीडीएफ डॉक्युमेंट्स, क्विज, असाइनमेंट और लाइव क्लासेस के रूप में अनुकूलित पाठ्यक्रम तैयार करने की अनुमति देता है। स्पाई एंड्रॉइड और आईओएस पर अपनी वेबसाइट और मोबाइल ऐप बनाने और उसे बढ़ाने के लिए भी क्रिएटर्स का समर्थन करता है। वर्तमान में 2,000 से अधिक क्रिएटर्स और व्यवसायों ने स्पाई का उपयोग करके अपने प्लेटफॉर्म लॉन्च किए हैं।

क्रिएटर अर्थव्यवस्था तेजी से बढ़ रही है

ग्राफी के सह-संस्थापक और सीईओ सुमित जैन ने बताया, “क्रिएटर अर्थव्यवस्था तेजी से विकसित हो रही है और ग्राफी में, हम लगातार ऐसे अवसर तलाश रहे हैं जो क्रिएटर्स को बढ़ने और अपनी पूरी क्षमताओं को हासिल करने में मदद करें। ऑनलाइन शिक्षा व्यवसाय बनाने के लिए कंटेंट क्रिएटर्स के लिए एक किफायती, सुरक्षित और स्केलेबल माध्यम की आवश्यकता को पहचानने की स्पाई और हमारी प्रवृत्ति एक जैसी है।

स्पाई ने क्रिएटर्स के लिए लाभकारी प्रस्ताव तैयार किया है। हमें विश्वास है कि उनके अनअकैडमी ग्रुप में शामिल होने से हम दोनों को हमारे सामान्य तालमेल तलाशने और दुनिया के सबसे बड़े क्रिएटर समुदाय का निर्माण करने में मदद मिलेगी।क्रिएटर इकोनॉमी को बढ़ावा देने और क्रिएटर्स को अपने कौशल का मुद्रीकरण करने और अपना ऑनलाइन स्कूल लॉन्च करने में मदद मिल सके इसलिए ग्राफी ने हाल ही में क्रिएटर ग्रांट और ग्राफी सेलेक्ट एक्सेलेरेटर प्रोग्राम जैसे कई प्रोग्राम लॉन्च किए हैं।

इसे भी पढ़ें…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here