बाराबंकी हादसे पर राष्ट्रपति-प्रधानमंत्री ने जताया शोक, मृतक के परिजनों को मिलेगा मुआवजा

354
The President-Prime Minister expressed grief over the Barabanki accident, the families of the deceased would get compensation
यह हादसा बाराबंकी के रामसनेही घाट थाना क्षेत्र में हुआ। बस में करीब 130 यात्री सवार थे। बताया जा रहा है कि हिसार में खराब हुई एक दूसरी बस के यात्री भी सवार थे।

बाराबंकी। यूपी के बाराबंकी जिले में मंगलवार देर रात एक बड़ा हादसा हो गया। इस हादसे में 20 यात्रियों की मौत हो गई, दो दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो गए। यह हादसा लखनऊ-अयोध्या हाईवे पर हुआ। सड़क किनारे खड़ी स्लीपर कोच बस को तेज रफ्तार ट्रक ने टक्कर मार दी। हादसे में बस में सवार और उसके नीचे सो रहे एक महिला समेत 19 यात्रियों की मौत हो गई। 23 से ज्यादा घायल हैं। 10 की हालत नाजुक है, जिन्हें ट्रामा सेंटर लखनऊ रेफर किया गया है। हादसे की जानकारी होने पर पीएम मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शोक जताया।

यह बस हरियाणा से बिहार जा रही थी। घायलों को की स्थिति देखते हुए आशंका है कि मृतकों की संख्या और बढ़ भी सकती है। हादसे के बाद बाराबंकी प्रशासन ने कंट्रोल रूम नंबर जारी किया है। पीड़ित परिवार और रिश्तेदार- 9454417464 पर संपर्क कर सकते हैं।

ओवरलोडिंग बनी हादसे की वजह

यह हादसा बाराबंकी के रामसनेही घाट थाना क्षेत्र में हुआ। बस में करीब 130 यात्री सवार थे। बताया जा रहा है कि हिसार में खराब हुई एक दूसरी बस के यात्री भी सवार थे। ओवरलोड होने की वजह से बस का एक्सल टूट गया।इसे ठीक करने के लिए ड्राइवर ने बस को हाईवे पर कल्याणी नदी के पुल पर खड़ा कर दिया था। यात्रियों को नींद आ रही थी इसलिए वे बस के नीचे और उसके आसपास लेट गए। रात 11:30 बजे लखनऊ की ओर से आ रहे तेज रफ्तार ट्रक ने बस को टक्कर मार दी।

बारिश से आई रेस्क्यू में दिक्कत

हादसे के बाद चीख-पुकार सुनकर आसपास के लोग मौके पर पहुंचे। उन्होंने पुलिस को सूचना दी और रेस्क्यू शुरू कर दिया। घायलों को रामसनेहीघाट सीएचसी ले जाया गया, जहां से गंभीर घायलों को जिला अस्पताल और लखनऊ ट्रामा सेंटर रेफर किया गया। हादसे के बाद ट्रक का ड्राइवर मौके से फरार हो गया। हाईवे पर वाहनों की लंबी कतार लग गई। इससे करीब 5 किलोमीटर लंबा जाम लग गया। हादसे के शिकार लोगों ने बताया कि बस में सवार सभी यात्री बिहार के सीतामढ़ी, सुपौल सहित अलग-अलग जिलों के रहने वाले थे। ये सभी मजदूर थे, जो धान की रोपाई के लिए अपने-अपने गांव वापस जा रहे थे।

बस में सवार फौनी साहनी ने बताया कि वह लोग बिहार के रहने वाले हैं। हरियाणा से घर जा रहे थे। अंबाला से जिस बस में वह लोग बैठे, वह उन्हें हिसार तक लाई। वहां ड्राइवर ने बस खराब होने की बात कहकर सभी यात्रियों को दूसरी बस के हवाले कर दिया। जिस बस में उनसे बैठने के लिए कहा गया, वह पहले से ही भरी थी। जब कुछ यात्रियों ने बस में बैठने से इंकार किया तो बस संचालक ने दबाव बनाकर उन सभी को दूसरी बस में ठूंस दिया। 40-50 यात्रियों की क्षमता वाली इस बस में 130 से ज्यादा यात्री थे। ट्रक ने जब टक्कर मारी तो बस कुछ दूर तक घिसटती चली गई। इसके बाद हर तरफ खून और मांस के लोथड़े बिखरे हुए थे

दो -दो लाख मिलेगा मृतकों के परिजनों को

बाराबंकी हादसे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जाहिर किया है। उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से फोन पर जानकारी ली। PM ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपए की मदद का ऐलान किया है। घायलों को 50-50 हजार रुपए दिए जाएंगे। वहीं, CM योगी ने सभी घायलों के मुफ्त इलाज करने के निर्देश दिए हैं। बाराबंकी के DM और SP घायलों को उनके घर तक भेजने का इंतजाम करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here