बेरोजगारी के खिलाफ वाराणसी में राज्यस्तरीय युवा कन्वेंशन का आयोजन, रोजगार के अधिकार को मौलिक अधिकार घोषित करने की मांग

69
बेरोजगारी के खिलाफ एक राज्यस्तरीय युवा कन्वेंशन मे बोलते हुए AIDYO के पदाधिकारी

3 मार्च 2024, वाराणसी। युवा संगठन आल इंडिया डेमोक्रेटिक यूथ आर्गेनाइजेशन (AIDYO) की उत्तर प्रदेश राज्य कमेटी के बैनर तले बेतहाशा बढ़ती बेरोजगारी के खिलाफ एक राज्यस्तरीय युवा कन्वेंशन का आयोजन किया गया। कन्वेंशन के प्रारंभ में आल इंडिया डेमोक्रेटिक यूथ आर्गेनाइजेशन (AIDYO) के वाराणसी जिला इंचार्ज कमलेश मौर्य ने कन्वेंशन के आयोजन के बारे में अपनी बात रखी। तत्पश्चात पंजाब- हरियाणा की खनौरी सीमा पर पुलिस एवं प्रदर्शनकारी किसानों के बीच सड़क में मारे गए युवा किसान शुभकरण सिंह की याद में 2 मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई। विजय प्रकाश गुप्त ने क्रांतिकारी गीत प्रस्तुत किया। कन्वेंशन के मुख्य अतिथि जाने-माने इतिहासकार एवं चिंतक डॉक्टर मोहम्मद आरिफ ने संबोधित करते हुए कहा कि आज हमारे देश की सरकारों के पास कोई युवा नीति नहीं है। रोजगार के लिए कोई ठोस कदम उठाने की बजाय सरकारें केवल बेरोजगारों से परीक्षा में फीस के रूप में पैसा वसूलने में लगी है। फीस के रूप में जो इतना रुपया आ रहा है, वह जा कहां रहा है? इसको समझने की जरूरत है। यह अरबो-खरबों रुपए सरकार अपनी छवि को चमकाने हेतु विज्ञापनों पर खर्च कर रही है। भुखमरी का प्रमाण यह है कि 80 करोड़ लोग सरकारी राशन पर निर्भर हैं। आज युवाओं के मस्तिष्क में नफरत भरी जा रही है। जरूरत है निजीकरण के खिलाफ लड़ने की , जो रोजगार को खत्म कर रहा है। जरूरत है नफरत के खिलाफ आवाज बुलंद करने की। कन्वेंशन में बढ़ती बेरोजगारी के खिलाफ AIDYO के उत्तर प्रदेश सचिव मंडल सदस्य दिनेश कांत मौर्य ने एक प्रस्ताव पेश किया। जिस पर विजय प्रकाश गुप्त, यशवंत राव, व उमाशंकर यादव ने अपने विचार व्यक्त किये। और सर्व सम्मति से प्रस्ताव पारित किया गया। कन्वेंशन को AIDYO के राष्ट्रीय अध्यक्ष कामरेड निरंजन नस्कर एवं राष्ट्रीय महासचिव कामरेड अमरजीत कुमार ने भी संबोधित किया। कामरेड अमरजीत कुमार ने कहा कि सभी सरकारी विभागों में लाखों-लाख पद खाली है। केंद्र व राज्य सरकार उन पदों को न भर कर सभी विभागों का निजीकरण कर रही है। उच्च शिक्षित युवा बेरोजगार होकर दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं। आज हमें बेरोजगारी व निजीकरण के खिलाफ लड़ने की महती आवश्यकता है। कन्वेंशन की अध्यक्षता AIDYO के प्रदेश अध्यक्ष कामरेड मकरध्वज एवं संचालन प्रदेश सचिव कामरेड रामकुमार यादव ने किया। सम्मेलन के माध्यम से हम सार्वजनिक संस्थाओं एवं उपक्रमों को निजी हाथों में बेचना बंद करने, रोजगार के अधिकार को मौलिक अधिकार घोषित करने, केंद्र एवं राज्य सरकार के विभागों के सभी रिक्त पदों पर तत्काल स्थाई भर्ती करने, संविदा पर कार्यरत सभी कर्मियों को नियमित करने, युवाओं की वाजिब मांगों को लेकर किये जा रहे आंदोलन में पुलिस हस्तक्षेप बंद करने, शराब, नशीली दवाओ, अश्लीलता व इंटरनेट पोर्नोग्राफी पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने, सांप्रदायिक व धार्मिक कट्टरता को बढ़ावा देने वाली ताकतों के खिलाफ कारगर कदम उठाने की सरकार से मांग की गई। साथ युवाओं से बेरोजगारी सहित तमाम समस्याओं के खिलाफ संगठित होकर जुझारू युवा आंदोलन खड़ा करने हेतु आगे आने की अपील की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here