मिशन 2022: सपा-बसपा से गठबंधन पर बोले ओवैसी, हम तैयार, वो पहले पहल करें

239
Mission 2022: Owaisi said on alliance with SP-BSP, we are ready, they should take the first initiative
अयोध्या नाम से ओवैसी को इतनी चिढ़ है तो वे यहां न आएं। इस विचारधारा की संत समाज निंदा करता है।

लखनऊ। यूपी चुनाव में मैदान मारने के उद्देश्य से यूपी में जमीन तलाशने हैदराबाद के सांसद ओवैसी तीन दिवसीय पर यूपी मंगलवार को पहुंचे। इस बाद उनकी यात्रा का कार्यक्रम अयोध्या के आसपास के क्षेत्रों को ध्यान में रखकर तय किया गया है।ओवैसी मंगलवार को अयोध्या के मुस्लिम बहुल इलाके रूदौली में सभा करेंगे। सभी की नजर इस पर है कि ओवैसी यहां क्या करते हैं। इस बीच, ओवैसी के अयोध्या को फैजाबाद कहे जाने पर विवाद हो गया है।

यही नहीं, अयोध्या में ओवैसी की पार्टी ने जो बैनर और पोस्टर्स लगवाए हैं, उन पर भी फैजाबाद लिखा है। इससे लोगों में गुस्सा है। खासतौर पर संत समाज नाराज है। साधु संत ओवैसी पर बैन लगाने की मांग कर रहे हैं। उनका कहना है, अयोध्या को फैजाबाद कहना हिंदू धर्म का अपमान है। विरोध बढ़ता देखकर पुलिस ने अयोध्या में उन सभी पोस्टर्स को हटा दिया है, जिन पर फैजाबाद लिखा है। हनुमानगढ़ी के पुजारी राजूदास ने कहा है कि फैजाबाद का नाम सरकारी दस्तावेजों में अयोध्या हो गया है तो पोस्टर पर फैजाबाद क्यों लिखा जा रहा है। यदि अयोध्या नाम से ओवैसी को इतनी चिढ़ है तो वे यहां न आएं। इस विचारधारा की संत समाज निंदा करता है।

लखनऊ में की प्रेस कॉन्फ्रेंस

अयोध्या रवाना होने से पहले ओवैसी ने लखनऊ में पत्रकारों के सवालों के जवाब भी दिए। ओवैसी ने दावा किया कि उनकी पार्टी यूपी में 100 सीटों पर चुनाव लड़ने के लिए तैयार है। सपा-बसपा से गठबंधन के सवाल पर ओवैसी ने कहा, पहले सपा-बसपा को हमसे गठबंधन करने के लिए आने दीजिए। हम उनसे बात करने के लिए तैयार हैं। वे पहले बात तो करें।ओवैसी ने यूपी में अपने इस कार्यक्रम का ऐलान करते हुए कहा था, मैं सात सितंबर को फैजाबाद और आठ सितंबर को सुल्तानपुर और नौ सितंबर को बाराबंकी का दौरा करूंगा। आने वाले दिनों में हम योगी सरकार को हराने के लिए विधानसभा चुनावों के मद्देनजर उत्तर प्रदेश के और क्षेत्रों का दौरा करेंगे।

इस बीच, उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री मोहसिन रजा ने कहा, असदुद्दीन ओवैसी शायद RSS मुखिया मोहन भागवत के बयान का अनुसरण कर रहे हैं। वह अपने पूर्वजों की धरती अयोध्या गए हैं अपनी चुनावी यात्रा की शुरूआत करने। हम सब अपने पूर्वजों को याद करते हैं, इसलिए वह अयोध्या आ रहे हैं, उनका स्वागत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here