मैनकाइंड फार्मा ने लॉन्च किया ‘‘नरचर फ्लोरेस्ट’

115
Mankind Pharma launches “Nurture Florast”
महिलाओं के स्वास्थ्य और उनके सकारात्मक दृष्टिकोण के लिए गायनेकोलोजिस्ट्स के समर्पण की पुष्टि करता है।

बिजनेस डेस्क। जानी मानी विश्वस्तरीय फार्मास्युटिकल फर्म मैनकाइंड फार्मा ने एक अनूठी पर्यावरण पहल ‘नरचर फ्लोरेस्ट’ की शुरूआत की है। यह एक भारतीय फार्मास्युटिकल कंपनी के द्वारा पहली बार लाई गई अनूठी पहल है, जिसके तहत स्थानीय किसानों को सहयोग प्रदान करने और स्थायित्व को बढ़ावा देने के उद्देश्य से 3300 से अधिक पेड़ों के साथ ‘गायनेकोलोजिस्ट्स के सहयोग से एग्रोफॉरेस्टरी प्रोजेक्ट’ की शुरूआत की गई है। 5 जून को आयोजित विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर मैनकाइंड फार्मा ने ‘नरचर फ्लोरेस्ट’ पहल की घोषणा की थी, जिसमें देश भर से 3300 से अधिक गायनेकोलोजिस्ट्स ने उत्साह के साथ हिस्सा लिया था, जिन्होंने अपने पेशे को सम्मान देते हुए इस एग्रोफॉरेस्टरी प्रोजेक्ट को अपनाया। अयोध्या में स्थानीय किसानों द्वारा उगाया गया हर पौधा इस पेशे के प्रति सम्मान का प्रदर्शन है, जो महिलाओं के स्वास्थ्य और उनके सकारात्मक दृष्टिकोण के लिए गायनेकोलोजिस्ट्स के समर्पण की पुष्टि करता है।

एग्रोफॉरेस्ट परियोजना की शुरूआत

औपचारिक उद्घाटन समारोह का आयोजन 15 जून को अयोध्या में हुआ, जहां डॉक्टर और हितधारक इस बदलावकारी एग्रोफॉरेस्ट परियोजना की शुरूआत के लिए एकजुट हुए। ग्रो बिलियन ट्रीज़ के सहयोग से मैनकाइंड फार्मा अयोध्या के किसानों को तीन सालों के लिए ओर्गेनिक खाद में सहयोग तथा आगामी वर्षों के लिए मौसम प्रबन्धन रणनीतियों के लिए ड्रिप सिंचाई सिस्टम के साथ सहयोग प्रदान करेगी। अयोध्या धाम में श्रीराम वैन में स्थित यह फॉरेस्ट कार्बन अवशोषण में योगदान देगा, साथ ही स्थानीय किसानों को आय का अतिरिक्त स्रोत भी उपलब्ध कराता है।

स्थायी कृषि प्रथाओं को बढ़ावा देते हुए मिट्टी की उर्वरता, जल संरक्षण एवं जैव विविधता को बढ़ावा देना इस आधुनिक दृष्टिकोण का उद्देश्य है। नरचर फ्लोरेस्ट के तहत पेड़ों की विभिन्न प्रजातियां उगाई जाएंग जिनमें जामुन, आम, अमरूद, चीकू और फल वाले वृक्ष शामिल होंगे, जो स्थानीय किसानों को आय के अतिरिक्त स्रोत प्रदान करेंगे। इसके अलावा छांव देने, हवा को शुद्ध करने और आस-पास के पर्यावरण में सुधार लाने के लिए नीम और पीपल जैसी प्रजातियों को चुना गया है, जिन्हें खासतौर पर शिक्षण परीक्षण विद्या आश्रम स्कूल के आस-पास उगाया जाएगा।

पर्यावरण संरक्षण में योगदान

‘मैनकाइंड फार्मा में हम आने वाली पीढ़ियों के लिए स्वस्थ एवं हरित दुनिया को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध हैं।’ शीतल अरोड़ा, चीफ़ एक्ज़क्टिव ऑफिसर, मैनकाइंड फार्मा लिमिटेड ने कहा। ‘‘नरचर फ्लोरेस्ट पहल के माध्यम से हम स्थानीय किसानों को सहयोग प्रदान कर उनके जीवन पर सकारात्मक प्रभाव उत्पन्न करने, स्थायी कृषि को बढ़ावा देने तथा पर्यावरण संरक्षण में योगदान देने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हम सिर्फ पेड़ लगाने के दायरे से आगे बढ़कर समुदाय को ज़रूरी संसधान उपलब्ध कराकर समुदाय और पर्यावरण में निवेश कर रहे है।’ ‘नरचर फ्लोरेस्ट’ पहल पर्यावरण संरक्षण एवं स्थायी भविष्य को बढ़ावा देने की मैनकाइंड फार्मा की प्रतिबद्धता को दर्शाती है। 3300 गायनेकोलोजिस्ट्स के साथ मैनकाइंड की यह पहल कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व और पर्यावरण संरक्षण की दिशा में प्रयासों का उत्कृष्ट उदाहरण है।

इसे भी पढ़ें..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here