ईश्ववर चंद विद्यासागर की जयंती पर परिचर्चा व सांस्कृतिक संध्या का आयोजन

165
सामूहिक गीत प्रस्तुत करती हुई बाल सदन की बच्चे

लखनऊ। साहित्यिक व सांस्कृतिक संगठन सुकृति के तत्वावधान में ईश्वरचंद्र विद्यासागर की जयंती के अवसर पर मोतीनगर स्थित बाल सदन में ईश्ववर चंद विद्यासागर के जीवन संघर्ष व उनके विचारों पर परिचर्चा का आयोजन हुआ तत्पश्चात सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किये गये।

कार्यक्रम में बोलते हुए के के शुक्ला

कार्यक्रम की अध्यक्षता ओ. पी. सिन्हा व संचालन जय प्रकाश ने किया। इस अवसर पर वंदना सिंह, रामकृष्ण, के के शुक्ला, डां नरेश कुमार, अजय प्रकाश, राजीव वत्सल, बी. एन. त्रिपाठी, भास्कर अस्थाना, आशुकान्ति सिन्हा, यादवेंद्र आदि ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते ईश्ववर चंद विद्यासागर की जीवन संघर्ष पर विस्तृत चर्चा किया। इसके पश्चात आयोजित सांस्कृतिक संध्या में विप्लव सिंह, सचिन तिवारी, प्रणत गाईन, कृष्ण कान्त भरद्वाज, सतीश कुमार, अक्षिता और अन्य बाल सदन के बच्चों ने सामूहिक गीत, एकल गीत, बांसुरी वादन आदि प्रस्तुत किया।सुकृति के सचिव आशुकान्ति सिन्हा ने बताया कि ईश्ववर चंद विद्यासागर हमारे देश के नव जागरण काल के मनीषी थे। उन्होंने बताया कि सुकृति एक साहित्यिक व सांस्कृतिक संगठन है जो निरन्तर महापुरुषों की जयंती पर विविध आयोजन कर युवा पीढ़ी को महापुरुषों के जीवन संघर्ष व उनके विचारों से परिचित कराता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here