Tuesday, October 4, 2022
Homeउत्तर प्रदेशआजमगढ़आजमगढ़ में योगी बोले- अग्निपथ पर युवाओं को भड़का का उनका भविष्य...

आजमगढ़ में योगी बोले- अग्निपथ पर युवाओं को भड़का का उनका भविष्य बिगाड़ रहा विपक्ष

आजमगढ़। केंद्र सरकार द्वारा लाई गई अग्निपथ योजना के विरोध में देश के कई हिस्सों में लगातार प्रदर्शन किया जा रहा है। इस बीच सरकार और सरकारी तंत्र द्वारा अग्निपथ योजना के फायदे गिनाते हुए अग्निवीरों को भविष्य में मिलने वाले फायदों के बारे में विस्तार से जानकारी दे रही है। इस बीच सीएम योगी ने आजमगढ़ उपचुनाव में हुई एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि विपक्ष अग्निपथ के विरोध ​में युवाओं को भड़का कर उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है। मालूम हो कि रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दो स्थानों पर जनसभा कर भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में जन समर्थन मांगा।

सीएम योगी ने पहले चक्रपानपुर क्षेत्र अकबेलपुर और बिलरियागंज क्षेत्र में चुनावी जनसभाओं को संबोधित किया। दोनों स्थानों पर सीएम योगी ने अग्निपथ योजना की चर्चा की। युवाओं के बीच इस योजना को लेकर भ्रम फैलाए जाने की बात कही।योगी ने सख्त लहजे में कहा कि विपक्षी दल नौजवानों को गुमराह कर उनके जीवन के साथ खिलवाड़ करने का काम कर रहे हैं। युवाओं को बरगलाने का प्रयास किया जा रहा है। कुछ लोग युवाओं को रोजगार की दिशा में आगे नहीं बढ़ने देना चाहते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि थल सेना, नौसेना और वायु सेना में अग्निपथ योजना के तहत भर्ती होने वाले अग्निवीर सैनिकों को चार साल पूरे करने पर केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों और असम राइफल्स भर्ती में प्राथमिकता मिलेगी।

योगी ने विपक्ष को घेरा

जनसभा में विपक्ष पर हमलावर योगी ने कहा कि नौजवानों के जीवन के साथ जिन लोगों ने खिलवाड़ किया था, आज एक बार फिर वहीं लोग उनके भविष्य के साथ खेल रहे हैं। कहा कि वर्ष 2017 से पहले क्या होता था कोई नौकरी निकलती थी और पूरा खानदान वसूली पर निकल जाता था।केंद्र सरकार अग्निपथ योजना के तहत देश में अग्निवीर पैदा करने का काम कर रही है, जिसकी पूरी दुनिया तारीफ कर रही है। मगर कुछ लोग विरोध के नाम पर राजनीति कर रहे हैं। बताया कि सरकार आने वाले डेढ़ साल में करीब 10 लाख युवाओं को नौकरी देगी।

अखिलेश ने किया धोखा

सीएम योगी ने कहा कि सपा ने आजमगढ़ की जनता के साथ-साथ अपने कार्यकर्ताओं को भी धोखा देने का काम किया है। अखिलेश यादव यहां के सांसद थे लेकिन वह कोरोना काल में यहां की जनता का हाल जानने तक नहीं आए। सहायता तक भी भेजी नहीं। उस समय मैं आजमगढ़ में तीन बार आया था। जब देश कोरोना महामारी से जूझ रहा था तो वो दुष्प्रचार कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सपा ने दलित युवा का अपमान किया है। लोकसभा उपचुनाव में पहले सुशील आनंद को टिकट दिया फिर टिकट वापस लेकर अपने परिवार के सदस्य को ही यहां से उतार दिया। आजमगढ़ को आतंकगढ़ बनने से बचाने के लिए सैफई परिवार से बचने की जरूरत है। जिसकी शुरुआत अब आजमगढ़ से होनी चाहिए। उन्होंने हम विकास की बात करते है और वो वंशवाद की बात करते हैं

इसे भी पढ़ें…

Google search engine
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments