Wednesday, October 5, 2022
Homeउत्तर प्रदेशभाजपा की बुलडोज़र राजनीति, महिला हिंसा, हत्या, दुष्कर्म के खिलाफ आज...

भाजपा की बुलडोज़र राजनीति, महिला हिंसा, हत्या, दुष्कर्म के खिलाफ आज होगा प्रर्शन

★धरने में उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों से ऐपवा नेताओ के साथ 200 से अधिक महिलाएं शिरकत करेंगी।

लखनऊ। 20 जून को महिलाओ के विभिन्न मुद्दों पर अखिल भारतीय प्रगतिशील महिला एसोसिएशन (ऐपवा) का राज्य स्तरीय विरोध प्रदर्शन राजधानी लखनऊ के इकोगार्डन में आयोजित है।आज इंडियन कॉफी हाउस में ऐपवा की प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की गई।

प्रेस कॉन्फ्रेंस को सम्बोधित करते हुए ऐपवा की प्रदेश अध्यक्ष कृष्णा अधिकारी ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी के शासन मे महिलाओं के ऊपर हिंसा, हत्या, बलात्कार की घटनाओं की शर्मनाक ढंग से इज़ाफ़ा हुआ है। अपराधियों और बलात्कारियों को सजा मिलने के बजाय सरकार का संरक्षण मिला हुआ है । बहुमत से दुबारा सत्ता हासिल करने वाले और प्रदेश से अपराध कम करने और कानून का राज स्थापित करने की बात करने वाले मुख्यमंत्री योगी ने उत्तर प्रदेश को पुलिस स्टेट में तब्दील कर दिया है। यूपी पुलिस घरों में घुसकर बेटियों को मार रही है, हत्या और बलात्कार तक में शामिल हो रही है और उन पर किसी भी तरह की कोई क़ानूनी कार्रवाई भी नहीं की जा रही है। प्रदेश में मुख्यमंत्री तानाशाही ढंग से संविधान, कानून और न्यायालय को धवस्त कर रहे हैं।

ऐपवा की प्रदेश सचिव कुसुम वर्मा ने कहा की डबल इंजन की भाजपा सरकार बुलडोज़र राजनीति के तहत उत्तर प्रदेश में मुस्लिम समुदाय को निशाना बनाकर नफ़रत और हिंसा का सांप्रदायिक ज़हर घोलने की कोशिश कर रही है। इसकी आड़ में आंदोलनकारियों को भी परेशान कर रही है, गैरकानूनी ढंग से उनके मकानों पर बुलडोज़र चलाकर उन्हें ध्वस्त कर रही है। प्रयागराज में परवीन फातिमा और आफ़रीन,जावेद एक्टिविस्ट के साथ हुई शर्मनाक घटना इसका ताजा उदाहरण हमारे सामने है।

जनविरोधी कार्य नीतियों के ख़िलाफ़

ऐपवा प्रदेश सचिव कुसुम वर्मा ने कहा कि प्रदेश की आधी आबादी का बड़ा हिस्सा बेतहाशा बढ़ती महंगाई और बेरोज़गारी से भी त्रस्त है। ऐपवा योगी सरकार की महिला विरोधी- जनविरोधी कार्य नीतियों के ख़िलाफ़ है उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी -2 के शासन में महिला हिंसा और बलात्कार की घटनाओं में तेजी आई हैं।

लखनऊ, लखीमपुरखीरी, सीतापुर, कानपुर, प्रयागराज आदि जिलों में महिलाओँ के साथ हिंसा, हत्या, गैंग रेप की जघन्य घटनाएं सामने आई हैं। ललितपुर, सिद्धार्थनगर, चन्दौली जिलों में आश्चर्यजनक रूप से खुद यूपी पुलिस अपराधी और बलात्कारी है। इन घटनाओं से स्पष्ट है कि योगी सरकार में प्रदेश की पुलिस निरंकुश हो चुकी है। इन्ही सवालों को लेकर उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों से ऐपवा नेताओ के साथ तकरीबन 200 महिलाएं कल इकोगार्डन में एकत्र होंगी और अपनी मांगों के साथ राज्यपाल के नाम ज्ञापन देंगी।

प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से ऐपवा ने सरकार की *अग्निपथ योजना* की कड़ी निंदा की है और सरकार से इसे वापस लेने की मांग की है। ऐपवा का मानना है कि अग्निपथ योजना भारत के बेरोजगार नौजवानों के साथ धोखा है; सेना में पुरानी भर्ती को पुनः: लागू किया जाना चाहिये और निजीकरण की नीति को समाप्त किया जाना चाहिए। ऐपवा अग्निपथ योजना के लिए चलाए जा रहे शांतिपूर्ण आंदोलन के साथ हैं। प्रेस कॉन्फ्रेंस में ऐपवा राज्य कार्यकारिणी सदस्य सरोजिनी बिष्ट एवं कमला गौतम भी उपस्थित रहीं।

इसे भी पढ़ें…

Google search engine
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments