लखनऊ: बुजुर्ग किसान पर यूं टूटा पुलिसिया कहर,अस्पताल ले जाते समय तोड़ा दम

423
पुलिसवालों ने एक बुजुर्ग किसान को लात-घूसों से इस कदर पीटा कि उसकी अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई।

लखनऊ। देश के सबसे बड़े यूपी की राजधानी लखनऊ से पुलिसिया हैवानियत का मामला सामने आया है। यहां पुलिसवालों ने एक बुजुर्ग किसान को लात-घूसों से इस कदर पीटा कि उसकी अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस अब मामला दबाने के लिए मृतक के परिजनों पर जुबान बंद रखने का दबाव डाल रही है।

बताया जा रहा है कि अंतिम संस्कार के लिए 5 हजार रुपए भी भिजवाए गए है। मिली जानकारी के मुताबिक यह घटना बंथरा थानाक्षेत्र के खांडदेव गांव की है। यहां रहने वाले किसान रामचंद्र (65 साल) शराब पीने का आदी था। बताया गया कि करवा चौथ यानी रविवार की रात शराब के नशे में उसका छोटी बहू से विवाद हो गया। नशे में उसने बहू पर हाथ उठा दिया।

जिसके बाद बहू ने 112 नंबर पर कॉल करके पुलिस को सूचना दी। सूचना पर बंथरा थाने पर तैनात यूपी 112 की पुलिस रेस्पॉन्स व्हीकल (PRV) गांव पहुंची। परिजनों के आरोप के मुताबिक पुलिस वालों ने बिना किसी पूछताछ के पहुंचते ही रामचंद्र को पीटना शुरू कर दिया। बताया गया कि मृतक रामचंद्र के बड़े बेटे कल्लू के अनुसार पुलिस के जाने के बाद पिता की हालत बिगड़ गई।

पूरी रात उनके मुंह से आवाज नही निकली। दूसरे दिन उन्हें सोमवार को अस्पताल ले जाया गया, यहां उनकी मौत हो गई। कल्लू के मुताबिक पुलिस ने उन्हें इतना पीटा था कि चेहरा सूज गया था। शरीर में और कई जगह गंभीर चोट आई थी। आरोप है कि पुलिस की पिटाई से ही रामचंद्र की मौत हुई है।

वहीं गांव वालों के मुताबिक मामला सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा तो बंथरा इंस्पेक्टर ने अपनी टीम को भेजा।बताया गया कि पुलिस वालों ने परिवार को अंतिम संस्कार के लिए पांच हजार रुपए देकर चुप रहने को कहा। वहीं इंस्पेक्टर के मुताबिक रामचंद्र बहुत शराब पीता था।बीमारी से उसकी मौत हुई है और पुलिस पर झूठा आरोप लगाया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें..

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here