जीवन में बनना है सफल तो इन बुरी आदतों से रहें दूर

226
भगवान श्रीकृष्ण ने गीता में भी कहा है कि व्यक्ति को अवगुणों से दूर रहना चाहिए। अवगुण व्यक्ति को कभी आगे नहीं बढ़ने देते हैं।

स्पेशल डेस्क। जीवन में हर कोई सफल बनना चाहता है। दरअसल हर मनुष्य को ईश्वर ने कुछ न कुछ खूबी और प्रतिभा प्रदान की है। इन खूबियों को जान—समझ कर उन्हें विकसित करने का प्रयास कर हम जीवन में सच्चे मायनों ने सफल व्यक्ति बन सकते हैं। भगवान श्रीकृष्ण ने गीता में भी कहा है कि व्यक्ति को अवगुणों से दूर रहना चाहिए। अवगुण व्यक्ति को कभी आगे नहीं बढ़ने देते हैं।

बताया गया है कि अवगुण व्यक्ति की सफलता में सबसे बड़ी बाधा हैं। इसलिए व्यक्ति को सदैव अच्छे गुणों को अपनाना चाहिए। इन गुणों से ही व्यक्ति को सम्मान प्राप्त होता है। दूसरों के लिए प्रेरणा बनता है। बताया गया कि यदि जीवन में बड़ी सफलता प्राप्त करनी है तो इन बुरी आदतों को अपने से हमेशा के लिए दूर कर देना चाहिए।

यूं बुरी आदतों से रहें दूर

आलस:सफलता की कुंजी के मुताबिक आलस व्यक्ति का सबसे बड़ा शत्रु है। बताया जाता है कि आलस एक ऐसा अवगुण है जो व्यक्ति को कभी सफल नहीं होने देता है। आलसी व्यक्ति सदैव आज के कार्य को कल पर टालने की कोशिश करता रहता है। ऐसे में वह सफलता के बजाए असफलता की ओर बढ़ता चला जाता है।

दरअसल समय कभी नहीं रूकता, जो समय एक बार गुजर जाता है, वो दोबारा लौटकर नहीं आता है। इस कारण जो अवसर हाथ से निकल जाते हैं, वे दोबारा नहीं मिलते हैं। ऐसे में आसानी से समझा जा सकता है कि आलस का अवगुण कितना घातक है।

लोभ: सफलता की कुंजी कहती है लोभ करना, सबसे बुरी आदतों में से एक है। दरअसल लोभ करने वाला व्यक्ति कभी संतुष्ठ नहीं होता है। बताया जाता है कि लोभ करने वाला व्यक्ति बहुत परेशान और बेचैन रहता है। ऐसा व्यक्ति समय के साथ स्वार्थी भी बन जाता है, जो सिर्फ अपने हितों का ध्यान रखता है।

अन्य व्यक्तियों को जब इस अवगुण के बारे में पता चलता है, तो दूसरे लोग, दूरी बना लेते हैं। बताया जाता है कि ऐसे लोग कभी भी बड़ी सफलता प्राप्त नहीं कर पाते हैं। प्रतिभा होने के बावजूद अन्य लोगों से पिछड जाते हैं। इसलिए इस अवगुण को अपने से सदा के लिए दूर करने का प्रयास करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें..

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here