जौनपुर में आधी रात को दो मंजिला मकान ढहा, पांच लोगों की मौत और पांच घायल

270
Two-storey house collapsed in Jaunpur at midnight, five dead and five injured
यहां जर्जर दो मंजिला कच्चा मकान गिर गया। इस दौरान आधा दर्जन लोग मलबे में दब गए।

जौनपुर। यूपी के जौनपुर जिले में गुरुवार रात एक बड़ा हादसा हो गया। यहां एक दो मंजिला मकान गिरने से पांच लोगों की मौत हो गई, और पांच लोग घायल है। स्थानीय लोगों के अनुसार अभी और नुकसान हो सकता है। यह हादसा जौनपुर क कोतवाली क्षेत्र के बड़ी मस्जिद के पीछे मोहल्ला रोजा अर्जन में देर रात लगभग साढ़े 11 बजे हुआ। यहां जर्जर दो मंजिला कच्चा मकान गिर गया। इस दौरान आधा दर्जन लोग मलबे में दब गए। जानकारी होने के बाद जिला व पुलिस प्रशासन राहत कार्य में जुट गया।

आधी रात करीब एक बजे तक पांच लोगों की मौत और पांच लोगों के घायल होने की जानकारी प्रशासनिक अधिकारियों ने दी है। हालांकि, इसके बाद भी मलबे की तलाश की जा रही है। घायलों की हालत चिंताजनक बनी हुई है।

मची चीख पुकार

आपकों बता दें कि गुरुवार रात लगभग 11 बजे परिवार के कुछ सदस्य सो रहे थे वहीं कुछ लोग बैठकर बातें कर रहे थे कि इसी दौरान पूरा मकान भरभरा कर गिर गया। इस वजह से चांदनी (18), शन्नो (55), गयासुद्दीन (17), मोहम्मद असाउददीन ( 19), हेरा( 10) व स्नेहा (12), संजीदा (37), मोहम्मद कैफ (8), मिस्बाह (18) व पड़ोस के अजीमुल्लाह (68)दब गए। मकान के गिरते ही स्थानीय लोगों व जिला प्रशासन ने दबे लोगों को निकाल कर घायलावस्था में जिला अस्पताल पहुंचाया।

चिकित्सकों ने संजीदा पुत्री जमालुद्दीन, अजीमुल्ला पुत्र कतवारू, मोहम्मद कैफ पुत्र जमालुद्दीन, मोहम्मद सेफ पुत्र जमालुद्दीन व मिस्वाह पुत्री जमालुद्दीन को मृत घोषित कर दिया। अन्य घायलों का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है। घटना की जानकारी होते ही जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा व पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी मौके पर पहुंचकर राहत और बचाव कार्य कराते हुए सभी को जिला अस्पताल पहुंचाया।

भवन हो गया था जर्जर

पड़ोसियों ने बताया कि मकान पूरी तरह से जर्जर हो गया था। मकान के मालिक का नाम कमरूद्दीन था। रात में एकाएक धराशाई हो गया। स्थानीय लोगों व जिला प्रशासन ने दबे तीन लोगों को निकाल कर घायलावस्था में जिला अस्पताल पहुंचाया। जहां सभी का इलाज चल रहा है। मलबे में अभी और लोगों के दबे होने की आशंका में मलबा हटाकर तलाश किया जा रहा है।

हादसा होने के बाद जानकारी होते ही पुलिस और फायर ब्रिगेड के कर्मचारी मौके पर पहुंचे और राहत व बचाव कार्य शुरू किया। कई लोगों के रात में दबे होने की वजह से आधी रात के बाद भी राहत और बचाव कार्य चलता रहा। प्रशासनिक अधिकारियों की देखरेख में पूरा राहत अभियान चल रहा है। लोगों के फंसे होने की आशंका में राहत व बचाव कर्मी सम्भलकर कदम मलबे पर उठा रहे हैं। प्रशासनिक अधिकारियों के अनुसार आधी रात के बाद पूरी तसल्ली होने के बाद ही अभियान खत्म किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here