प्रियंका गांधी को मिली इजाजत, लखनऊ से आगे नहीं बढ़ने दे रही थी पुलिस, योगी बोले- कानून से खिलवाड़ नहीं

172
Priyanka Gandhi got permission, the police was not allowing her to move beyond Lucknow, Yogi said - don't play with the law
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को यूपी सरकार ने आगरा जाने की अनुमति दे दी है। इसके बाद वह आगरा के लिए रवाना हो गईं।

लखनऊ- अवनीश पांडेय। यूपी सरकार ने चोरी के शक में पुलिस की पिटाई से सफाई कर्मी की मौत के मामले में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को आगरा में चार लोगों के साथ सशर्त जाने क जाने की अनुमति दी है। प्रियंका गांधी पुलिस हिरासत में मरने वाले सफाई कर्मचारी के परिजनों से मिलने जा रही थी जिन्हें रास्ते में हैं आगरा प्रशासन द्वारा रोक दिया गया था, फिर अधिकारियों से चर्चा करने के बाद प्रियंका जाने दिया गया। प्रियंका आगरा के लिए रवाना हो गई। इसकी जानकारी देते हुए प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया था कि अरुण वाल्मीकि की मृत्यु पुलिस हिरासत में हुई। उनका परिवार न्याय मांग रहा है। मैं परिवार से मिलने जाना चाहती हूं।

क्यों डर रही सरकार

उत्तर प्रदेश सरकार को डर किस बात का है क्यों मुझे रोका जा रहा है।आज भगवान वाल्मीकि जयंती है, पीएम ने महात्मा बुद्ध पर बड़ी बातें की, लेकिन उनके संदेशों पर हमला कर रहे हैं। उन्होंने पूछा कि क्या आगरा में पुलिस हिरासत में मारे गए अरुण वाल्मीकि के लिए न्याय मांगना अपराध है? भाजपा सरकार की पुलिस मुझे आगरा जाने से क्यों रोक रही है। क्यों हर बार न्याय की आवाज को दबाने की कोशिश की जाती है? मैं पीछे नहीं हटूंगी।

ये है पूरी घटना

आपको बता दें कि जिस शख्स की पुलिस कस्टडी में मौत हुई थी, वह आगरा के एक थाने के मालखाने से नकदी चुराने का आरोपी था। दरअसल आगरा के जगदीशपुरा थाने के मालखाने से 25 लाख रुपए की चोरी के शक में वहां सफाई कर्मचारी के रूप में काम करने वाले अरुण को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही थी, लेकिन उसकी पुलिस कस्टडी में मौत हो गई थी। इसके बाद आगरा जोन के अपर पुलिस महानिदेशक (एडीजी) ने थाना प्रभारी समेत छह पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया था और पुलिस ने ये भी बताया था कि तलाशी के दौरान अरुण के घर से 15 लाख रुपए बरामद हुए थे।

पुलिस आयुक्त ने बताया रोकने का कारण

प्रियंका गांधी को पीड़ित परिजनों से मिलने की अनुमति नहीं देने की संबंध में पुलिस आयुक्त डीके ठाकुर ने बताया कि आगरा के जिला अधिकारी द्वारा लखनऊ पुलिस लिखित अनुरोध किया गया था जिसमें कहा गया था कि लखनऊ से आने वाली राजनीतिक दलों के नेताओं को कानून व्यवस्था बनाए रखने के मद्देनजर यहां ना आने दिया जाए।

सीएम योगी ने दिए निर्देश

सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी मामले का संज्ञान लेते हुए स्थानीय प्रशासन के लिए निर्देश जारी किया है उन्होंने कहा है कि प्रदेश में कानून व्यवस्था के साथ किसी को खिलवाड़ करने की इजाजत न दी जाए जिसके बाद से सीएम के इस निर्देश को राजनीतिक रंग से भी देखा जा रहा है और इसकी राजनीतिक गलियारे में चर्चा भी चल रही है।लखनऊ आगरा एक्सप्रेस वे पर मिलने वाली लिंक रोड से एक्सप्रेस वे पर चढ़ने से पहले ही प्रियंका गांधी को रोक लिया गया प्रशासन को इस बात का आभास हो गया था कि प्रियंका गांधी आगरा पहुंचने वाली हैं जिसे लेकर पहले से ही प्रशासन अलर्ट थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here