चंद्रशेखर आजाद पार्क:भारी विरोध के बीच पीडीए ने पार्क में हुए अवैध निर्माण को किया ध्वस्त

192
Chandrashekhar Azad Park: Amidst heavy protests, PDA demolished illegal construction in the park
विवार को कमिश्नर संजय गोयल, डीएम संजय कुमार खत्री आदि उद्यान विभाग के अफसरों के साथ आजाद पार्क पहुंचे थे।

प्रयगाराज अरमान मलिक। इलाहाबाद हाईकोर्ट की फटकार के बाद प्रयागराज विकास प्राधिकरण (पीडीए) ने चंद्रशेखर आजाद पार्क में हुए अतिक्रमण को हटाना शुरू कर दिया है। बृहस्पतिवार को बड़ी संख्या में पुलिस बल के साथ प्रशासनिक अमला आजाद पार्क पर पहुंच गया। ध्वस्तीकरण की कार्रवाई शुरू कर दी गई है। जेसीबी के द्वारा कई अवैध निर्माण को ध्वस्त कर दिया गया। लोगों ने इसका विरोध करने का प्रयास किया लेकिन भारी पुलिस बल के चलते किसी की एक नहीं नहीं चली। कार्रवाई गुरुवार देर शाम तक जारी रही।

कोर्ट ने जताई थी चिंता

चंद्रशेखर आजाद पार्क में बढ़ रहे अतिक्रमण पर हाईकोर्ट ने चिंता जाहिर करते हुए जिले के सभी आला अधिकारियों को तलब कर लिया था। हाईकोर्ट ने 1975 के बाद पार्क में हुए सभी अतिक्रमण को हटाने का निर्देश दिया था और तीन दिनों के भीतर अतिक्रमण हटाने का आदेश जारी किया था। इससे जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया था। हाईकोर्ट के आदेश के अनुपालन में अधिकारी अतिक्रमण हटाने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल के साथ आजाद पार्क पहुंचे। पार्क के बाहर जेसीबी के साथ अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। इससे हड़कंप मचा हुआ है।

बता दें कि आजाद पार्क में अतिक्रमण को लेकर वर्ष 1999 में आदेश जारी हुआ था। हालांकि, तब उस आदेश पर कुछ खास काम नहीं हुआ था। इस दौरान पार्क के काफी कुछ अवैध रूप से बन गया। यहां अंदर मजारें तो बढ़ी हीं साथ ही स्टेडियम के पीछे ज्ञानवृक्ष मंदिर का भी हिस्सा बढ़ गया। पार्क की जमीन पर बना एक क्लब भी उद्यान विभाग को देने का निर्देश दिया गया था। प्रशासन द्वारा इस पर कोई काम न

Chandrashekhar Azad Park: Amidst heavy protests, PDA demolished illegal construction in the park
यहां अंदर मजारें तो बढ़ी हीं साथ ही स्टेडियम के पीछे ज्ञानवृक्ष मंदिर का भी हिस्सा बढ़ गया।

करने पर हाईकोर्ट ने अफसरों को तलब किया।इसके बाद रविवार को कमिश्नर संजय गोयल, डीएम संजय कुमार खत्री आदि उद्यान विभाग के अफसरों के साथ आजाद पार्क पहुंचे थे। नापजोख शुरू हुई तो वहां तमाम लोग कागजात लेकर आ गए थे। कुछ लोगों ने अतिक्रमण को सही बताया। प्रशासनिक कार्रवाई के दौरान आजाद पार्क में काफी संख्या में लोग जुट गए। कुछ ने कार्रवाई का विरोध शुरू किया तो पुलिस ने उन सभी को घेर लिया था। हालांकि प्रशासन की सख्ती के बाद कुछ लोगों ने अतिक्रमण को खुद ही हटाना शुरू क दिया था। बृहस्पतिवार को अधिकारी फिर पहुंच गए हैं।,पर इन धार्मिक स्थलों के इतर किये गए विस्तार(अतिक्रमण )पर कार्रवाई संभावित है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here