लखीमपुर खीरी हिंसा: न्यायिक जांच आयोग का गठन, रिटायर्ड जज प्रदीप कुमार करेंगे जांच

224
CM strict in TET paper leak case, Rasuka property will be confiscated on the accused
सीएम ने परीक्षार्थियों को फ्री में आने जाने की सुविधा देने को कहा।

लखनऊ। यूपी के लखीमपुर खीरी में रविवार को हुई हिंसा पर सियासी दंगल लगातार चौथे दिन गुरुवार जारी रहेगा ।इस बीच योगी सरकार ने इस मामले की जांच कराने के लिए न्यायिक आयोग का गठन कर दिया है। हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज प्रदीप कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में एकल सदस्यीय आयोग गठित किया गया है। आयोग दो महीने में अपनी रिपोर्ट देगा। आयोग का मुख्यालय लखीमपुर खीरी में होगा। मालूम हो कि आज सुप्रीम कोर्ट में लखीमपुर खीरी कांड को लेकर सुनवाई भी होनी है। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले का स्वतः संज्ञान लिया है। सुनवाई से पहले सरकार ने आयोग गठित कर दिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक गुरुवार को सपा मुखिया अखिलेश यादव और बसपा के सतीश चंद्र मिश्र पीड़ित परिवार से मिलने जाएंगे। बुधवार को दि भर चले हंगामे के बीच राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को लखीमपुर जाने और पीड़ित परिवार से मिलने की इजाजत बाद आज सपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव, बसपा नेता सतीश चंद मिश्रा समेत कई अन्‍य नेता लखीमपुर जा सकते हैं।आपकों बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले को संज्ञान में लेते हुए आज सुनवाई करेगा।

यूपी के लखीमपुर खीरी जिले के तिकुनिया में रविवार को हुए बवाल का सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को स्वत: संज्ञान लिया। इस मामले की सुनवाई गुरुवार को मुख्य न्यायाधीश एनवी रमण की अध्यक्षता वाली पीठ करेगी। इससे पहले मंगलवार को हिंसा का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया था। दो वकीलों ने शीर्ष कोर्ट में याचिका दायर कर मंत्रियों के खिलाफ एफआईआर दायर करने और उन्हें दंडित करने की मांग की थी।

प्रियंका पर भड़के अखिलेश यादव

प्रियंका गांधी ने विपक्ष को निशाने पर लिया था। इसके बाद अखिलेश यादव ने भड़कते हुए जवाब दिया कि प्रियंका तो कमरे में बंद थीं, वो हमारा संघर्ष नहीं देख पाईं। दरअसल प्रियंका गांधी ने ने कहा ​था कि सपा और बसपा मैदान में उतरकर विरोध नहीं करती। इसके बाद अखिलेश ने प्रियंका को जवाब देते हुए कहा कि वह तो बंद कमरे में थी उन्हें हमारा संघर्ष नहीं दिखाई ​देता समाजवादियों ने इस घटना का जमकर विरोध किया, समाजवादियों को पुलिस ने ज्यादा लाठी मारी। किसी को किसी पर भी कमेंट करने की जरूरत नहीं है।

यह है पूरा मामला

लखीमपुर खीरी के तिकुनिया में रविवार दोपहर खूनी संघर्ष हुआ था। इसमें चार किसानों समेत 9 लोगों की मौत हो गई थी। इस मामले में आरोपी केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी का बेटा आशीष मिश्र है। इस घटना को लेकर विरोध-प्रदर्शन जारी हैं और राजनीतिक हालात भी गर्म बने हुए हैं।

इसे भी पढ़ें…

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here