Tuesday, October 4, 2022
Homeदेश-दुनियासरकार की मनाही के बाद भी राहुल गांधी जिद्द पर अड़े बोले,...

सरकार की मनाही के बाद भी राहुल गांधी जिद्द पर अड़े बोले, कानून का पालन करते हुए जाएंगे लखीमपुरखीरी

नईदिल्ली। रविवार को लखीमपुरखीरी में हुए बवाल के बाद चार किसानों की मौत के मामले में राहुल गांधी ने पीसी में अपनी बात रखी। राहुल ने कहा कि कुछ समय से देश के किसानों के साथ लगातार अत्याचार किया जा रहा है ।किसानों की आवाज को सुनियोजित तरीके से दबया जा रहा है।

यहां तक कि किसानों को जीप से कुचला जा रहा है। एक तरफ बीजेपी नेता के पुत्र पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। दूसरी तरफ विपक्ष को पीड़ित परिवार से मिलने नहीं दिया जा रहा है। राहुल ने केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कि मंगलवार को पीएम मोदी लखनऊ में थे, ​लेकिन लखीमपुर खीरी नहीं गए। आज हम तीन मंत्रियों के साथ लखनऊ होते हुए लखीमपुरखीरी जाने की कोशिश करेंगें।

राहुल ने बताया कि धारा 144 पांच लोगों को रोकता है,इसलिए हम तीन लोगों के साथ लखीमपुरखीरी जाएंगे। यूपी में अपराधियों को संरक्षण दिया जा रहा है। राहुल गांधी ने बताया कि वह पीड़ित परिवारों से मिलकर उनका दुख- दर्द बांटने का काम करेंगे।मीडिया के एक सवाल का जवाब देते हुए राहुल ने कहा कि विपक्ष का काम दबाव बनाने का होता है। यदि हाथरस में हम नहीं कही गए न होते तो वहां सरकार कार्रवाई नहीं करते।यदि उनके सांसद के खिलाफ हम नहीं बोलते तो पीड़ितों को न्याय नहीं मिलता, राहुल ने मीडिया पर भी हमला बोला कि मीडिया अपने काम को सही ढंग से नहीं निभाती, बल्कि विपक्ष पर आरोप लगाती है कि वह राजनीति करती है।

वहीं दूसरे पत्रकार का जवाब देते हुए राहुल ने कहा कि बीजेपी सरकार और आरएसएस देश के संस्थानों पर कब्जा कर लिया है यहां तक कि मीडिया को भी कंट्रोल कर रहे है। हालात यह है कि यूपी में देश के नेताओं को जाने नहीं दिया जा रहा है। धारा 144 लागू होने का हवाला दिया जाता हैं, जबकि छत्तीसगढ़ के सीएम जब यूपी जा रहे थे तो उन्हें रोका गया था,जबकि वह अकेले थे। आज पेट्रोल —डीजल के दाम लगातार बढ़ते जा रहे है। देश की आवाज को दबाया जा रहा है। लोकतंत्र के स्तंभों का गलत उपयोग किया जा रहा है।

राहुल गांधी ने कहा कि हमारे परिवार के साथ कुछ भी कर दीजिए हमें कुछ नहीं फर्क पड़ता हमारे परिवार को शुरू से यह ट्रेनिंग दी जाती है। वहीं राहुल कृषि कानूनों पर बोलते हुए कहा कि यह एक सुनियोजित तरीके से किया जा रहा है। राहुल ने कहा कि मैं वहां जाकर धरातल की चीजें समझने की कोशिश करूंगा क्योंकि किसी को वहां की वास्तविक बात पता नहीं। राहुल ने कहा कि हम वहां जाकर योगी सरकार पर दबाव डालेंगे ताकि आरोपितों पर कार्रवाई हो सकें। राहुल गांधी का कहना है कि वहां सबकों नहीं रोका जा रहा है। वहां दो पार्टियों को केवल जाने दिया गया, क्योंकि वहां पर टीएमसी के सासंदों के दल और भीमआर्मी के नेता को जाने दिया गया।

राहुल गांधी ने भी आज छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी के साथ लखीमपुर जाने का ऐलान किया है, लेकिन उत्तर प्रदेश प्रशासन ने उनको इजाजत नहीं दी है। वहीं यूपी रवाना होने से पहले राहुल गांधी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की और उन्होंने योगी सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि  कुछ समय से हिंदुस्तान के किसानों पर सरकार का आक्रमण हो रहा है और जीप से किसानों को कुचला जा रहा है। राहुल गांधी ने कहा कि अब तक मंत्री पर कार्रवाई क्यों नहीं की गई। उन्होंने कहा कि यूपी में किसानों को मारा जा रहा है और कोई सुध लेने वाला नहीं है।

केवल हमें रोका जा रहा हैं

राहुल गांधी ने कहा कि पहले भारत में लोकतंत्र हुआ करता था लेकिन अब यहां तानाशाही है। केवल कांग्रेस नेता यूपी में नहीं जा सकते, उन्हें रोका जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमारे सीएम को भी यूपी नहीं जाने दिया जा रहा है।वहीं प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी के सवाल पर राहुल गांधी ने कहा कि प्रियंका को गिरफ्तार किया गया है, लेकिन यहां बड़ा मुद्दा किसानों का है। हमारी पार्टी किसानों के हक की बात करेगी।

राहुल गांधी ने कहा पीएम कल लखनऊ में थे, लेकिन लखीमपुर नहीं गए। राहुल गांधी ने कहा कि वह आज लखीमपुर जाने की कोशिश करेंगे। उन्होंने कहा कि हम किसी भी तरह से कानून का उल्लंघन नहीं करेंगे क्योंकि हम लोग तीन आदमी ही जा रहे हैं।राहुल गांधी ने कहा कि किसानों की जमीन छीनी गई। तीन नए कानून लाए गए जो कि किसानों के हक के खिलाफ है। इसलिए किसान धरने पर बैठे हैं।

Google search engine
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments