Wednesday, October 5, 2022
Homeउत्तर प्रदेशवरुणा एक्सप्रेस की विदाई: अब वाराणसी से लखनऊ का सफर 4.10 मिनट...

वरुणा एक्सप्रेस की विदाई: अब वाराणसी से लखनऊ का सफर 4.10 मिनट में कराएगी शटल

वाराणसी- लखनऊ। वाराणसी से चलकर जौनपुर—सुलतानपुर होते हुए लखनऊ का सफर करने वाली वरुणा एक्सप्रेस की विदाई तय होगी। उसकी जगह रेलवे शटल ट्रेन चलाने जा रहा है। यह ट्रेन सिर्फ 4.10 घंटे में सफर पूरा कर लेगी। इसे नवरात्र से शुरू करने की तैयारी है। यह कन्वेंशनल कोच वाली इंटरसिटी ट्रेन होगी जो राजधानी की रफ्तार से चलेगी।

अभी तक डिब्रूगढ़ नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस वर्तमान में वाराणसी से लखनऊ पहुंचने में सबसे कम समय लेती है। यह 4.05 घंटे में लखनऊ पहुंच जाती है। राजधानी एक्सप्रेस रात 1.40 बजे वाराणसी से चलकर सुबह 5.45 बजे लखनऊ पहुंचती है। ऐसे में उत्तर रेलवे प्रशासन सुबह छह बजे वाराणसी से शटल ट्रेन चलाएगा। जो चार घंटे दस मिनट में यानि सुबह दस बज कर दस मिनट पर लखनऊ पहुंच जाएगी।

Farewell to Varuna Express: Now shuttle will travel from Varanasi to Lucknow in 4.10 minutes
चारबाग रेलवे स्टेशन का लोड कम करने के लिए कुछ ट्रेनों के चलने के स्टेशन को भी बदला गया है।

आदेश हो चुका है जारी

वाराणसी से लखनऊ तक शटल ट्रेन चलाने का आदेश रेलवे बोर्ड द्वारा जारी कर दिया है। इसका टाइम टेबल भी तैयार हो गया है। गाड़ी जौनपुर सुबह 6.58 बजे, सुलतानपुर सुबह 7.56 बजे, निहालगढ़ सुबह 8.38 बजे होते हुए लखनऊ 10.10 बजे पहुंच जाएगी। जबकि लखनऊ से यह शटल ट्रेन शाम 6 बजे चलकर रात 10.10 बजे वाराणसी पहुंचेगी। ट्रेन निहालगढ़ में शाम 7.16 बजे, सुलतानपुर में 7.56 बजे और जौनपुर में रात 8.55 बजे पहुंचेगी। श्रीकृष्णानगर का ठहराव समाप्त हो जाएगा।

गोमतीनगर से चलेंगी डुप्लीकेट पुष्पक

चारबाग रेलवे स्टेशन का लोड कम करने के लिए कुछ ट्रेनों के चलने के स्टेशन को भी बदला गया है। रेलवे मिली जानकारी के अनुसार लखनऊ से चलकर मुंबई जाने वाले यात्रियों को राहत देने के लिए पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ मंडल प्रशासन डुप्लीकेट पुष्पक एक्सप्रेस गोमतीनगर रेलवे स्टेशन से चलाएगा। इससे ट्रांसगोमती इलाके में रहने वाले हजारों मुसाफिरों को चारबाग तक नहीं आना पड़ेगा। वहीं गोमतीनगर से ही कामाख्या व वैष्णादेवी के लिए सीधी ट्रेनें भी इसी महीने शुरू होंगी।

यह जानकारी पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ मंडल की डीआरएम डॉ. मोनिका अग्निहोत्री ने दी। मालूम हो कि डीआरएम स्वच्छता पखवाड़े के समापन कार्यक्रम को संबोधित कर रही थी। उन्होंने बताया कि जुगौली क्रॉसिंग पर गंदगी का अंबार था, जो अब पूरी तरह साफ है। वहां पौधारोपण भी किया गया है। वहीं रकाबगंज में भी ट्रैक किनारे हालत खराब थी, जिसे ठीक कर दिया गया है। स्मार्ट सिटी बनाने के लिए यह जरूरी है कि लोग भी अपनी भूमिका को समझें। उन्होंने बताया कि पखवाड़े में 40 स्टेशनों, आठ रेलवे अस्पतालों, 13 ट्रेनों व 11 रेलवे कॉलोनियों में अभियान चलाए गए।
ट्रेनों के बाबत उन्होंने बताया कि डुप्लीकेट पुष्पक एक्सप्रेस से जंक्शन से चलने वाली पुष्पक पर लोड घटेगा। गोमतीनगर, चिनहट, महानगर, इंदिरानगर में रहने वालों को चारबाग जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

Google search engine
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments