पीएम ने लता दीदी को दी जन्मदिन की बधाई, लिखा आपकी सुरीली आवाज पूरी दुनिया में गूंजती है

350
PM Modi wishes Lata didi on her birthday, wrote, your melodious voice resonates all over the world
लता मंगेशकर का आज 91वां अपना जन्मदिन है। मालूम हो कि लता मंगेशकर का 28 सितंबर 1929 को इंदौर में मशहूर संगीतकार दीनानाथ मंगेशकर घर जन्म हुआ था।

मनोरंजन डेस्क। देश में सुर कोकिला के नाम से विख्यात, अपनी आवाज से लाखों— करोड़ों संगीत प्रेमियों के दिलों पर राज करने वालीं लता मंगेशकर का आज 91वां अपना जन्मदिन है। मालूम हो कि लता मंगेशकर का 28 सितंबर 1929 को इंदौर में मशहूर संगीतकार दीनानाथ मंगेशकर घर जन्म हुआ था। लता जी ने अपनी आवाज से बहुत छोटी उम्र में ही गायन में महारत हासिल की और विभिन्न भाषाओं में गीत गाए। लता मंगेशकर के जन्मदिन पर उन्हें देश दुनिया से बधाई के संदेश मिल रहे हैं।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लता मंगेशकर को जन्मदिन की बधाई देते हुए लिखा, ‘आदरणीय लता दीदी को जन्मदिन की बधाई। आपकी सुरीली आवाज पूरी दुनिया में गूंजती है। भारतीय संस्कृति के प्रति आपकी विनम्रता और जुनून के लिए आपका सम्मान किया जाता है। व्यक्तिगत रूप से, आपका आशीर्वाद महान शक्ति का स्रोत है। मैं लता दीदी के लंबे और स्वस्थ जीवन की कामना करता हूं।

इसी तरह गृहमंत्री अमित शाह ने लिखा, सादगी व सौम्यता की प्रतिमूर्ति स्वर कोकिला आदरणीय लता मंगेशकर दीदी को जन्मदिन की शुभकामनाएं प्रेषित करता हूँ। लता दीदी ने अपनी मधुर आवाज से भारतीय संगीत को पूरे विश्व में गुंजायमान किया है। आप सदैव स्वस्थ रहें व दीर्घायु हों ऐसी ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ। बता दें कि साल 2001 में लता मंगेशकर भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ दिया गया था। उन्होंने 36 भारतीय भाषाओं में गाने रिकॉर्ड कराए हैं। लता मंगेशकर ने केवल हिंदी भाषा में 1,000 से ज्यादा गीतों को अपनी आवाज दी है। उन्हें साल 1989 में दादासाहेब फाल्के पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है।

आज भी स्रोताओं के दिलों पर करतीं है राज

भारतीय सुर कोकिला लता मंगेशकर अपने जन्म दिन पर अपने प्रशंसकों के लिए एक खास तोहफा लेकर आईं हैं। 22 साल पहले रिकॉर्ड किया गया लता मंगेशकर का गाना ‘सब ठीक तो है, लेकिन सब ठीक नहीं लगता’ उनके जन्मदिन के मौके पर रिलीज हो रहा है। आपकों बता दें कि यह गाना एक फिल्म में फिल्माया जाना था। लेकिन वो फिल्म कभी भी नहीं बनी। इस गाने को फिल्म से पहले ही रिकॉर्ड कर लिया गया था। गाने के बोल जहां गुलजार साहब ने लिखे थे तो वही इस गाने का संगीत निर्देशक और कम्पोजर विशाल भारद्वाज ने बनाया था। लता जी की आवाज में गाए गए इस गाने की सबसे बड़ी खासियत ये है कि गाने को ना आज के समय के हिसाब से रीमिक्स किया गया और न ही गाने में बदलाव हुआ।

इसे भी पढ़ें…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here