आरोप: गोरखपुर पुलिस की पिटाई से कानपुर के व्यापारी की मौत, छह पुलिसकर्मी निलंबित

129
Allegation: Kanpur businessman dies due to beating of Gorakhpur police, six policemen suspended
व्यापारी की मौत की खबर मिलने के बाद जुटे उसके दोस्त होटल के बाहर जमकर हंगामा करने लगे।

गोरखपुर। सीएम के गृह जनपद से एक दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है। यहां एक व्यापारी के घर वालों ने आरोप लगाया है कि पुलिस की पिटाई से व्यापारी की मौत हुई हे। यह मामला कानपुर के रामगढ़ताल इलाके का है। यहां के रहने वाले व्यापारी मनीष गुप्ता (36) की सोमवार की देर रात रहस्यमय हाल में मौत हो गई। इसके साथ में आए दोस्तों का आरोप है कि चेकिंग के नाम पर आधी रात आई पुलिस ने उसकी पिटाई कर दी जिससे बचने को वह भागा और गिरने से उसकी मौत हो गई। इस मामले में पुलिस का कहना है कि मनीष नशे में था और बिस्तर से उठते ही लड़खड़ा कर गिर गया जिससे मौत हो गई। पुलिस ने शव को पीएम के लिए भेज दिया। वहीं मामले में लापरवाही बरतने वाले प्रभारी निरीक्षक जगत नारायण सिंह व चौकी इंचार्ज सहित छह पुलिस कर्मी निलंबित कर दिए गए हैं।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कानपुर के बर्रा निवासी मनीष गुप्ता अपने दोस्त प्रदीप सिंह और हरवीर सिंह के साथ गोरखपुर घूमने आया था। सिकरीगंज के चंदन सैनी से तीनों की पुरानी दोस्ती थी। उसने ही कृष्णा पैलेस में अपने नाम पर रुम बुक कराया था। सोमवार की रात पुलिस चेकिंग करने के लिए पहुंची थी।इस दौरान एक रुम में तीन लोगों के मौजूद होने पर कमरे में जाकर पुलिस चेकिंग करने लगी। इसी दौरान मनीष रहस्यमय तरीके से गंभीर रूप से जख्मी हो गया। आनन फानन पुलिस उसे लेकर जिला अस्पताल गई फिर मेडिकल कॉलेज लेकर गई। जहां पर उसकी मौत हो गई।

व्यापारी की मौत की खबर मिलने के बाद जुटे उसके दोस्त होटल के बाहर जमकर हंगामा करने लगे। उनका आरोप था कि पुलिस की पिटाई से मौत हुई है। इस मामले में कार्रवाई होनी चाहिए। बाद में मौके पर शाहपुर पुलिस को भेजा गया ताकि आक्रोश को कम किया जा सके।

चेकिंग करने गई थी पुलिस

रामगढ़ताल इंस्पेक्टर जगत नारायण सिंह ने कहा कि पुलिस रात में चेकिंग करने गई थी। इस दौरान एक कमरे में तीन लोगों के ठहरने की जानकारी मिली। कमरे में जाकर सबके आधार कार्ड चेक किए जा रहे थे। दो युवकों ने दिखाया और तीसरा नशे में सो गया था। अचानक वह उठा और उसका पैर फिसल गया जिससे उसे गंभीर चोट आई। उसे मेडिकल कॉलेज पहुंचाया गया जहां उसकी मौत हो गई।

इस संबंध में गोरखपुर एसएसपी डॉ विपिन टाडा ने कहा कि तीन संदिग्धों के होटल में रुकने पर पुलिस मौके पर गई थी। होटल मैनेजर को साथ में लेकर चेकिंग के दौरान हड़बड़ाहट में एक युवक गिर गया। होटल मैनेजर को साथ में लेकर ही पुलिस युवक को अस्पताल ले गई जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई परिजनों को तत्काल पुलिस ने सूचना दे दी। डाक्टरों के पैनल से पोस्टमार्टम कराया जाएगा। तीनों युवक गोरखपुर किस लिए आए थे कितने दिन से ठहरे थे इसकी जांच कराई जा रही है।इस वारादात के बाद मामले में लापरवाही बरतने वाले प्रभारी निरीक्षक जगत नारायण सिंह व चौकी इंचार्ज सहित छह पुलिस कर्मी निलंबित कर दिए गए हैं। मामले की जांच पुलिस अधीक्षक उत्तरी को सौंपी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here