महंत नरेन्द्र गिरि के शव का पोस्टमार्टम शुरू, एक—एक क्षण की हो रही वीडियोग्राफी

292
पोस्टमार्टम पैनल के सभी चिकित्सकों के नाम गुप्त रखे गए हैं। बताया जा रहा है कि रिपोर्ट मौके पर ही सील की जाएगी। एक प्रति सीएम कार्यालय को भी भेजे जाने की सूचना है।

प्रयागराज। अखाड़ा परिषद अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि के शव का पोस्टमार्टम पांच डॉक्टरों ने शुरू कर दिया है। इसके लिए गठित पैनल में दो विशेषज्ञ एमएलएन मेडिकल कॉलेज, दो डॉक्टर जिला अस्पताल और सीएमओ के अधीन तैनात एक डॉक्टर को शामिल किया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पोस्टमार्टम पैनल के सभी चिकित्सकों के नाम गुप्त रखे गए हैं। बताया जा रहा है कि रिपोर्ट मौके पर ही सील की जाएगी।

एक प्रति सीएम कार्यालय को भी भेजे जाने की सूचना है। बताया गया कि जिलाधिकारी संजय खत्री, आईजी केपी सिंह, डीआईजी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी, प्राचार्य मेडिकल कॉलेज, सीएमओ डॉ. नानक सरन समेत अन्य अधिकारियों की बैठक में पोस्टमार्टम पैनल गठित किया गया। महंत के शव का पोस्टमार्टम करने वाले सभी विशेषज्ञों के नाम अफसरों के अलावा किसी को जाहिए नहीं किए गए हैं। बताया जा रहा है कि अफसरों ने तय किया है कि इस हाई प्रोफाइल मामले में पोस्टमार्टम के दौरान हर क्षण की वीडियोग्राफी कराई जा रही है।

मौके पर ही रिपोर्ट सील होगी। सीएमओ डॉ. नानक सरन ने पोस्टमार्टम की तैयारियों के बावत कुछ बोलने से मना कर दिया।  अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद अध्यक्ष और मठ बाघंबरी गद्दी के महंत नरेंद्र गिरि को मठ बाघंबरी गद्दी में ही आज भू समाधि दी जाने की बात भी सामने आई है। पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी के सचिव श्रीमहंत रविंद्र पुरी के अनुसार मठ के अन्दर ही उनका समाधि स्थल बनेगा। इस मौके पर अनेक प्रमुख संतों सहित निरंजनी अखाड़े के पंचपरमेश्वर एवं अन्य संत-महंत मौजूद रहेंगे।

सुसाइड नोट पर गहरा रही आशंकाएं
महंत नरेन्द्र गिरि का कथित सुसाइड नोट छह पेज का बताया जा रहा है, जिस पर कुल 41 बार कटिंग की गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इनमें शब्दों के साथ ही तारीख में की गई कटिंग भी शामिल है। इसमें जो भी बातें लिखी गईं, उसका कई पन्नों पर रिपीटिशन भी है यानी वह बातें-बातें कई बार लिखी गई हैं। सबसे ध्यान देने वाली बात यह है कि इसमें महंत शब्द दो अलग-अलग तरीके से लिखा है।

कई जगह महंत लिखा गया है तो एक जगह पूरे शब्द की जगह सिर्फ म शब्द का प्रयोग किया गया है। इधर महंत की मौत के बाद अब उनके उत्तराधिकार को लेकर बहस छिड़ गई है। दरअसल अखिल भारतीय अख्राड़ा परिषद अध्यक्ष समेत चार अहम पद रिक्त हो गए हैं। अब उनके बाद इन पदों पर किसकी ताजपोशी होगी, इसे लेकर कयासबाजी तेज हो गई है। हालांकि सुसाइट नोट को आधार मानकर कहा जा रहा है कि हरिद्वार में रह रहे बलबीर गिरि बाघंबरी मठ के महंत बनेंगे।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here