घर वाले शादी की राह में डाल रहे थे बाधा तो प्रेमी युगल ने हाथ पकड़कर नदी में लगा दी छलांग

188
The family was putting obstacles in the way of marriage, so the loving couple grabbed their hands and jumped into the river
युवक ने अपने मोबाइल से व्हाट्सएप पर स्टेटस डाला कि हम दोनों के इस फैसले में किसी का कोई कसूर नहीं है। 

वाराणसी। वाराणसी के रहने वाले एक प्रेमी युगल ने शुक्रवार को घर वालों द्वारा प्रेम की राह में दीवार खड़ी किए जाने से दुखी होकर पु​ल से छलांग लगाकर जान दे दी। वहीं युवक ने पुल से छलांग लगाने से पहल आखिरी बार फेसबुक स्टेटस अपडेट कर जान देने की खबर के साथ ही अपनी आखिरी इच्छा लिखी।फिर दोनों ने एक साथ हाथ पकड़कर मालवीय पुल से गंगा नदी में छलांग लगा दी। राहगीरों और नाविकों की सूचना पर पहुंची रामनगर व आदमपुर थाने की पुलिस एनडीआरएफ, जल पुलिस के गोताखोरों की मदद से उनकी खोजबीन में जुटी हुई है। पुलिस को पुल पर एक पल्सर बाइक खड़ी मिली। वहीं गंगा में छलांग लगाने से पूर्व युवक ने अपने मोबाइल से व्हाट्सएप पर स्टेटस डाला कि हम दोनों के इस फैसले में किसी का कोई कसूर नहीं है।

दोनों करना चाहते थे शादी

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार युवक पांडेयपुर का और युवती सोनारपुरा की रहने वाली है। दोनों शादी करना चाहते थे,लेकिन घर वाले राजी नहीं थे, इस कारण दोनों ने साथ जान देने का फैसला किया। पांडेयपुर निवासी विनोद गुप्ता के तीन बेटों में दूसरे नंबर का आशीष गुप्ता (30) एक प्राइवेट कंपनी में मार्केटिंग मैनजर था। शाम छह बजे अचानक किसी को बिना कुछ बताए घर से बाइक से निकला। इसी बीच देर शाम सात बजे के बाद सोनारपुरा की रहने वाली युवती रिंकी के साथ बाइक से राजघाट मालवीय पुल पहुंचा। पुल के बीच बाइक खड़ी कर आशीष और रिंकी ने कुछ मिनट तक आपस में बातचीत की।

इसके बाद अचानक आशीष और रिंकी ने एक साथ हाथ पकड़ रेलिंग पर चढ़े और गंगा में छलांग लगा दी। आसपास के राहगीरों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने बाइक का रजिस्ट्रेशन नंबर को खंगाला तो यह बाइक कचहरी के एक अधिवक्ता छोटा लालपुर निवासी नवीन पांडेय की निकली। पुलिस ने नवीन पांडेय से संपर्क साधा तो पता चला कि छह माह पूर्व बाइक आशीष गुप्ता ने खरीदी थी। इसके आधार पर नवीन ने आशीष के परिजनों को सूचना दी।

फेसबुक पर लिखी अपनी आखिरी इच्छा

उधर, आशीष ने अपने व्हाट्सएप स्टेटस और फेसबुक पर लिखा था कि हम दोनों अपनी मर्जी से यह कदम उठाने जा रहे हैं। मरने के बाद हमारे परिजनों को परेशान न किया जाए। न पोस्टमार्टम और न जलाया जाए। आशीष ने युवती के परिजनों को अच्छा बताया। पुलिस की सूचना पाकर मौके पर पहुंचे आशीष के भाई विनय कुमार व रविंद्र ने बताया कि इधर बीच परेशान रहता था।

वहीं सोनारपुरा निवासी युवती रिंकी के भाई विक्की को भी पुलिस ने सूचना दी। पुलिस के मुताबिक परिजनों से पूछताछ के दौरान मालूम चला कि दोनों एक दूसरे से शादी करना चाहते थे लेकिन दोनों के परिवार को शादी को लेकर आपत्ति थी। एनडीआरएफ के गोताखोरों की मदद से खोजबीन की जा रही है। वहीं दोनों के इस तरह जान देने से दोनों के घर में मातम छाया हुआ है। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

इसे भी पढ़ें…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here