डेंगू का डंक नहीं हो रहा कम, फिरोजाबाद के बाद कासगंज में शुरू हुआ मौत का सिलसिला

206
Dengue sting is not decreasing, after Firozabad, the death process started in Kasganj
पड़ोसी जिले कागसंज में 24 घंटे में छह मरीजों की मौत हो गई।

फिरोजाबाद। पश्चिम यूपी में फैला वायरल और डेंगू बुखार का डंक कम होने का नाम नहीं ले रहा है। फिरोजाबाद से शुरू हुआ मौत का सिलसिला अब पड़ोसी जिला कासगंज में तबाही मचानी शुरू कर दी। हालात है यह है कि पश्चिमी यूपी में अब तेजी से बीमारों की संख्या बढ़ रही है।

फिरोजाबाद में 24 घंटे में 13 तो कासगंज में 6 लोगों की मौत हो गई। जैसे-जैसे मौतों का सिलसिला बढ़ रहा है, वैसे-वैसे सरकार की टेंशन बढ़ रही है। शनिवार को फिरोजाबाद जिले में बीते 24 घंटे में 13 लोगों ने इलाज के दौरान दुनिया छोड़ दी। सबसे खास बता है कि फिरोजाबाद में मरने वालों की संख्या बच्चों की अधिक है। एक-एक बच्चे की मौत से मोहल्लो में गम का माहौल बढ़ता जा रहा है। फिरोजाबाद में मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 128 तक पहुंच गया। हालात यह यह है कि सरकारी अस्पताल में बीमारों को बेड नहीं मिल रहा है।

शनिवार को फिरोजाबाद में इन्होंने तोड़ा दम

डेंगू और वायरल की वजह से शनिवार को फिरोजाबाद में झलकारी नगर गली नंबर तीन के रहने वाले शिवम (14), 6 सा के माधव पुत्र त्रिलोकीनाथ,नंदनी गुप्ता (11) पुत्र सुमित गुप्ता की मौत हो गई है। यशोदा (12) पुत्री अनिल सविता ने सौ शैय्या अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। इसी तरह 6 के साल मानव पुत्र रूपकिशोर ने सौ शैय्या अस्पताल में दम तोड़ दिया। रवि (6) पुत्र श्रीकृष्ण ओझा ने दिल्ली में दम तोड़ दिया। 25 वर्षीय रितु शुक्ला तीन दिेन इलाज के बाद दुनिया छोड़ दी।

हाथवंत के गांव पोपगढ़ निवासी रोहित (2) पुत्र दिनेश कुमार को जिला चिकित्सालय में दुनिया छोड़ दी। इसी क्रम में रिषी (13) पुत्र वीनेश कुमार ने भी सौ शैय्या अस्पताल में दम तोड़ दिया। सुनीता (52) पुत्री अजय कुमार की डेंगू की वजह से मौत हो गई। नंदनी यादव (12) पुत्र सुनील यादव, गढ़ी सिधारी गांव की मुन्नी देवी (56) पत्नी अनेक सिंह की मौत हुई है। संस्कार (5) पुत्र वीरपाल ने दुनिया छोड़ दी।

सौ शैय्या अस्पताल में 429 मरीज भर्ती

फिरोजाबाद के राजकीय मेडिकल कॉलेज स्थित सौ शैय्या अस्पताल में 24 घंटे में कराई गई 101 नए मरीज डेंगू के मिले है, जबकि इस समय अस्पताल में 429 मरीज भर्ती हैं। इधर, निजी अस्पतालों में मरीजों की संख्या बढ़ रही है। सौ शैय्या अस्पताल में गंभीर हालत में आने वाले मरीजों को ही भर्ती किया जा रहा है।

कासगंज में 6 लोगों ने दुनिया छोड़ी

पड़ोसी जिले कागसंज में 24 घंटे में छह मरीजों की मौत हो गई। पटियाली व गंजडुंडवारा इलाका सबसे अधिक संवेदनशील है। यहां तीन-तीन मरीजों की मौत हुई है। स्वास्थ्य विभाग की जांच में डेंगू के पॉजिटिव मामले पाए गए। उधर, शनिवार को मेडिकल कॉलेज की लैब में एक बच्ची सहित छह लोगों मे डेंगू के लक्षण मिले। जबकि एक महिला में मलेरिया की पुष्टि हुई। डॉ. अंशुल गुप्ता ने बताया कि शनिवार को मैनपुरी निवासी एक बच्चा डेंगू के लक्षण वाला भर्ती किया गया है।

इसे भी पढ़ें…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here