सरकार के लिए सिरदर्द बन रहा फिरोजाबाद का बुखार,24 घंटे में सात की मौत

422
Firozabad fever is becoming a headache for the government, seven died in 24 hours
फिरोजाबाद में डेंगू और फीवर से हो रही मौतों से प्रशासन की नींद उड़ी हुई है।

फिरोजाबाद। योगी सरकार के लिए फिरोजाबाद का बुखार सिरदर्द बन रहा है। विधान सभा चुनाव नजदीक है ऐसे में बुखार से जितनी अधिक मौतें होंगे विपक्ष उसे उतनी हवा देकर सरकार को घेरने का काम करेगी। फिरोजाबाद में सरकार के लाख प्रयास भी फीवर और डेंगू की वजह से हो रही मौतों को रोकने में नाकाम साबित हो रहे है। जबकि योगी सरकार बुखार का ताप उतारने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। फिर भी फिरोजाबाद में मरने वालों की संख्या नहीं घट रही है। बीते 24 घंटे में चार बच्चों समेत सात लोगों काल के गाल में समा गया।

फिरोजाबाद में मौतों पर विराम नहीं लगने से बढ़ रहा लोगों के मन में गुस्सा,अब तक 102 मौत

सीएम के आदेश के बाद राजधानी लखनऊ के किग जार्ज मेडिकल कॉलेज (केजीएमसी) से फिरोजाबाद आए बाल रोग विशेषज्ञ से प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा आलोक कुमार ने वर्तमान हालात की जानकारी ली। स्वास्थ्य निदेशालय से आई टीम ने डॉक्टरों के साथ बैठक करने के साथ ही बुखार और डेंगू प्रभावित क्षेत्रों में पहुंची। वहीं फिरोजाबाद के सौ शैया अस्पताल में रोगी और तीमारदारों की भीड़ लगी रही। हालात यह है कि एक बेड पर दो—दो लोगों के लेटाया जा रहा है। केजीएमसी से आए बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. सकल नारायण सिंह ने बुधवार को सौ शैया अस्पताल में अब तक हुई दस मौतों के बारे में जानकारी ली।

दव छिड़काव में तेजी लाने के निर्देश

लोगों को जान लेवा मच्छरों से बचाने के लिए डॉ. आलोक सिंह ने शहरी और ग्रामीण इलाकों में कीटनाशक दवाओं के छिड़काव और फागिग में और तेजी लाने को कहा। स्वास्थ्य निदेशालय लखनऊ से आए संयुक्त निदेशक डॉ. विकास सिघल और पाथ संस्था के स्टेट टेक्निकल आफिसर डॉ. अमृत शुक्ला ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र उसायनी और मेडिकल कॉलेज परिसर स्थित हौंसला ट्रेनिग सेंटर पर बैठक कर आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से घर-घर जाने के काम में और तेजी लाने की आवश्यकता जताई। वहीं फिरोजाबाद डीएम खुद क्षेत्रों में पहुंचकर लोगों को ओडोमॉस और मच्छरदानी बांट रहे, लोगों से आसपास साफ-सफाई रखने और कूलरों को साफ रखने के निर्देश दे रहे है ।

सौ शैय्या में बुधवार को 92 बच्चे भर्ती

बुधवार को फिरोजाबाद के सौ शैय्या अस्पताल में देर शाम तक 92 बच्चे भर्ती कराए गए वहीं 91 बच्चों को अस्पताल से छुट्टी दी गई। इस तरह सौ शैया अस्पताल और उसके बगल में स्थित ब्लाक में मिलाकर कुल 391 बच्चे भर्ती रहे, जबकि ग्रामीण स्वास्थ्य केंद्रों पर भर्ती रोगियों की संख्या 171 रही। अस्पतालों में पूरे दिन रोगी-तीमारदारों की भीड़ लगी रही। इस बीच सीएमओ डॉ. दिनेश कुमार प्रेमी ने सुबह सौ शैय्या अस्पताल पहुंच कर रोगियों के इलाज की व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया।

110 मरीजों के लिए सैंपल

सौ शैय्या अस्पताल के अलावा नई बिल्डिंग में एक पलंग पर दो मरीजों को भर्ती किया है। स्थिति अभी भी बेकाबू हो रही है। एलान नगर, ककरऊ कोठी, कौशल्या नगर, झलकारी नगर सहित अन्य इलाकों से मरीज पहुंचे। हाजीपुरा और रामगढ़ क्षेत्र सहित अन्य इलाकों में भी डेंगू दस्तक दे चुका है। कई बच्चों की गंभीर हालत थी। उन्हें गोदी में उठाकर परिजन अस्पताल पहुंचे। दोपहर तक करीब 90 नए बच्चों को भर्ती किया जा चुका था। साथ ही 110 मरीजों के रक्त सैंपल लिए गए।

इनकी हुई मौत

बुधवार को आर्ची गुप्ता (14) पुत्री अजय निवासी सुहागनगर, यश (पांच) पुत्र रवि राठौर रानी नगर, सिमरन (15) पुत्तन सिंह जलेसर रोड, काजल (20) पत्नी धर्मवीर झलकारी नगर, दिया (17) पुत्री सौरभ और सनम (नौ) पुत्री सोबरन निवासी ओम नगर।

इसे भी पढ़ें…

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here