अमेठी में एक साथ तीन बच्चों की मौत से गांव में नहीं जले चूल्हे

259
Due to the death of three children together in Amethi, the stove did not burn in the village
एक साथ तीन बच्चों की मौत से पूरे गांव में शाम को चूल्हे नहीं जले हैं।

अमेठी। यूपी के अमेठी जिले में एक साथ तीन बच्चों की मौत से गांव में मातम पसरा हुआ है। शाम के समय बच्चों की मौत होने से गांव में हर तरफ रोने—चीखने की आवाज आ रही थी, इस वजह से गांव में किसी भी घर में चूल्हे नहीं जलें। तिलोई तहसील के मोहनगंज थाना क्षेत्र के सोमवार शाम को बारिश की वजह से बड़ा हादसा हो गया। यहां टोडरपुर मजरे जमुरवां गांव में बारिश के चलते मकान की जर्जर दीवार ढहने से मलबे के नीचे दबकर तीन बच्चों की मौत हो गई। दो लोग गंभीर रूप से घायल हैं, बच्चों की मौत से गांव में हड़कंप मचा हुआ है। एक साथ तीन बच्चों की मौत से पूरे गांव में शाम को चूल्हे नहीं जले हैं।

मालूम हो कि सोमवार शाम यहां बारिश शुरू हुई थी, उसी समय कुछ बच्चे कच्चे मकान के पास खेल रहे थे। इसी दौरान तेज बारिश के कारण एकाएक जर्जर दीवार ढह गई, वंश (8) पुत्र श्यामलाल, दिव्यांशु (6) पुत्री राजेश, सत्यम (10) पुत्र शिवराज, आशीष (10) पुत्र श्यामलाल, शिवा (10) पुत्र राम बाबू मलबे में दब गए। बच्चों की दीवार के नीचे दबने की सूचना मिलते ही गांव में गड़कंप मच गया। ग्रामीणों ने दबे हुए लोगों को किसी तरह मलबे से निकाला और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तिलोई लेकर इलाज के लिए पहुंचे। जहां डॉक्टरों ने वंश पुत्र श्यामलाल, दिव्यांशु पुत्री राजेश और सत्यम पुत्र शिवराज को मृत घोषित कर दिया, वहीं दो घायलों का सीएचसी में इलाज चल रहा है।

मौके पर पहुंचे कलेक्टर

तीन बच्चों की मौत की सूचना पाकर डीएम अरुण कुमार,एसपी दिनेश सिंह, सीएमओ आशुतोष कुमार दुबे सहित कई आला अधिकारी तुरंत गांव पहुंच गए। डीएम ने मृतक बच्चों के परिवार वालों सांत्वना देते हुए हर संभव मदद का भरोसा दिया है, वहीं पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पंचनामा भर कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है, डीएम ने बताया कि दोनों घायल बच्चों में से एक का रायबरेली जिला अस्पताल और एक का सीएचसी तिलोई में इलाज किया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here