अपनों को मारने का गम नहीं, मुझे मेरा प्रेमी चाहिए, पढ़िएं दिल दहलाने वाली खबर

1050
Shameless murderer: After the murder, the person who committed suicide with the dead body of the innocent said - I will give the property to his mother
इससे ज्यादा क्या शर्म की बात हो सकती है कि अपराधी इतनी बेशर्मी से अपना बयान दे कि मैं पैसे के बाद पर सब मैनेज कर लूंगा।

रोहतक। अपने परिवार के चार लोगों को मौत की नींद सुलाने के बाद भी नहीं रोने वाला अभिषेक अपने प्रेमी से मिलने के ​जेल में दहाड़े मारकर रो रहा है। पुलिस वालों से लगातार विनती कर रहा है सर प्लीज मेरे प्रेमी को भी मेरे साथ जेल में रखा जाए। हम बात कर रहे है हरियाणा के रोहतक जिले के रहने वाले अभिषेक की जिसने पांच दिन पहले अपने परिवार के चार लोगों की हत्या इसलिए कर दी थी, क्योंकि परिवार वाले उसे लिंग नहीं बदलवाने के लिए पैसा नहीं दे रहे थे। आरोपित अपना लिंग बदलवाकर अपने प्रेमी के साथ शादी करना चाहता था। पुलिस रिमांड में आरोपित रोज चौंकाने वाला खुलासा कर रहा है, जिसे सुनकर पुलिस वालों के भी कान खड़े हो जा रहे है। आरोपित अभिषेक उर्फ मोनू का 5 दिन का रिमांड पूरा हो चुका है। पुलिस सोमवार को उसे दोबारा कोर्ट में पेश करेगी।

एक भी बार परिवार के लिए नहीं रोया

पुसिल सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पांच दिन की रिमांड के दौरान अभिषेक पुलिस की मार से कतई भी नहीं रोया। लेकिन, जब भी उसे अपने प्रेमी पुरुष की याद आती तो दहाड़े मारकर रोता है। वह पुलिस को एक ही बात कहता रहा, सर प्लीज मुझे मेरे प्यार से मिला दो। आरोपी ने पुलिस को यह भी कहा है कि उसे अपने परिवार को मारने का कोई दुख नहीं है। वह बस इतना चाहता है कि उसे जहां भी रखा जाए, जिस भी जेल में भेजा जाए, उसके साथ उसका प्रेमी पुरुष दोस्त साथ जाना चाहिए। वह बार-बार अपने पुरुष प्रेमी को उसके पास भेजने की बात कह रहा है।

मनोचिकत्सक से कराया इलाज

अभिषेक ने पूछताछ में जो भी बयान दिए है उसे पुलिस ने कागजी कार्रवाई में शामिल किया है। पुलिस ने उसकी यह हालत देखकर मनोचिकत्सकों से उसकी काउंसिलिंग व इलाज करवाया है। लेकिन पुलिस के लिए सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि वह लिव इन में रहता है और अपने पुरुष प्रेमी के साथ उसके शारीरिक संबंध भी हैं। लिंग बदलवाने के लिए वह परिवार से 5 लाख रुपए मांग रहा था।

पुलिस ने आरोपी अभिषेक उर्फ मोनू से उसके घर के हर ताले की चाबियां बरामद की हैं। इसके अलावा उसकी निशानदेही पर पुलिस ने वारदात में प्रयुक्त पिस्तौल भी बरामद की है। वारदात के समय मोनू द्वारा पहने गए कपड़े, जूते भी बरामद किए हैं। वहीं, मोनू के प्रेमी की वह कार भी बरामद की है, जिसमें वह उत्तराखंड से दिल्ली और दिल्ली से रोहतक आया था।

ऐसे दी थी अपनों की मौत

27 अगस्त की दोपहर को झज्जर चुंगी स्थित शीतल नगर की बाग वाली गली में बबलू पहलवान के घर में घुसकर चार लोगों को गोलियां मारी गई थीं। मौके पर प्रॉपर्टी डीलर बबलू पहलवान, इसकी पत्नी बबली व बबलू की सास रोशनी की मौत हो गई थी। जबकि गोली लगने से 19 वर्षीय तमन्ना घायल हो गई थी। जिसकी पीजीआई में इलाज के दौरान दो दिन बाद मौत हो गई थी।

पुलिस व एफएसएल की संयुक्त जांच के दौरान टीम को ऊपर वाले कमरे से दो खाली खोल मिले व नीचे के कमरे से तीन खाली खोल मिले। नीचे वाले कमरे में बबलू बैड पर लेटा हुआ था वह मोबाइल फोन बात कर रहा था, लेकिन फोन उसके कान और कंधे के बीच रह गया। उसे माथे में तीन गोलियां मारी गई थीं। वारदात को अंजाम देकर कमरों को लॉक करके घर की सभी अलमारियों और अन्य लॉक की चाबियां आरोपी अपने साथ ले गया था। जो पुलिस ने मोनू से ही बरामद की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here