Tuesday, September 27, 2022
Homeउत्तर प्रदेशहृदयविदारक: मथुरा में बच्चों की जान बचाने सीएमओ के पैरो में गिरा...

हृदयविदारक: मथुरा में बच्चों की जान बचाने सीएमओ के पैरो में गिरा वृद्ध

मथुरा। पश्चिमी यूपी मे वायरल और डेंगू बुखार की वजह से स्थिति भयावह होती जा रही है। हालात यह है कि बच्चों की मौत के बड़े— बड़ों का कलेजा कांप जा रहा है। मथुरा के गांव में बच्चों की मौत के बाद गांव पहुंची सीएमओ के पैरों में पड़कर वृद्ध ने बच्चों की जान बचाने के लिए गुहार लगाई। सीएमओ के पैरों में पड़े वृद्ध की तस्वीर और वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है। हालांकि सीएम की सख्ती के बाद राजधानी से शासन स्तर पर लगातार निगरानी की जा रही है, लेकिन स्थिति सुधरने की जगल खराब होती जा रही है। फिरोजाबाद में डेंगू से अब तक 80 से ज्यादा बच्चों और वयस्कों की मौत हो चुकी है। मरने वालों में अधिकतर संख्या बच्चों की है।

मथुरा जिले में भी तेजी से डेंगू के मरीजों की संख्या बढ़ रही है। फरह और बलदेव क्षेत्र में इन दिनों डेंगू और वायरल फीवर का प्रकोप फैल हुआ है। जिले में अब तक 18 मरीजों की मौत हो चुकी है, जिनमें 12 बच्चे शामिल हैं। फरह क्षेत्र का कोह गांव सबसे ज्यादा डेंगू-बुखार से प्रभावित है। यहां छह बच्चों की मौत हो चुकी है। हर घर में बीमारों की संख्या बढ़ रही है। स्थिति यह है कि गांव का एक बुजुर्ग ने बच्चों की जान बचाने के लिए सीएमओ के पैरों पर गिरकर गुहार लगाई। मथुरा के कोह गांव में डेंगू-बुखार से बच्चों की मौत के बाद सीएमओ डॉक्टर रचना गुप्ता जब पहुंचीं तो एक बुजुर्ग सीएमओ के पैरों पर गिर गया। बुजुर्ग ने गिड़गिड़ाते हुए कहा कि बच्चों की जिंदगी बचा लो। वहां मौजूद लोगों ने बुजुर्ग को समझाया। सीएमओ ने विश्वास दिलाया कि मरीजों के इलाज में स्वास्थ्य विभाग कोई कसर नहीं छोड़ेगा।

फिरोजाबाद में हालत हो रहे खराब

फिरोजाबाद जिले में डेंगू से मौत का आंकड़ा नहीं थम रहा है। डेंगू और वायरल से मौतों के आंकड़ों पर गौर करें तो विगत तीन सप्ताह में हर चार दिन में 15 मरीजों की मौत हुई। मरने वालों में अधिकतर बच्चे शामिल है।शहर के सौ शैय्या अस्पताल में 400 बीमार बच्चे भर्ती हैं। आंकड़ों को लेकर विरोधाभास की स्थिति है। स्वास्थ्य विभाग के गुरुवार देर रात जारी किए आंकड़ों के मुताबिक अब तक 50 मौत हुई हैं। हालांकि जनप्रतिनिधियों का कहना है कि डेंगू से अब तक 84 लोग जान गवां चुके हैं।

इसे भी पढ़ें…

Google search engine
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments