रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने किया लखनऊ में 1710 करोड़ की 180 योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण

274
Defense Minister Rajnath Singh laid the foundation stone and inaugurated 180 schemes worth 1710 crores in Lucknow
रक्षामंत्री ने मंगलवार को लखनऊ में 1710 करोड़ की परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

लखनऊ। यूपी की राजधानी लखनऊ में मंगलवार को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कई परियोजनाओं का लोकार्पण किया। इस दौरान उन्होंने संबोधित करते हुए कहा कि वह लखनऊ को देश का नंबर वन शहर बनाना चाहते हैं। इसके लिए वह लगातार प्रयास कर रहे हैं उनकी इच्छा है कि शहर का यातायात ऐसा हो कि लोग बिना जाम में फंसे कहीं भी जा सकें। आउटर रिंग रोड के निर्माण में हो रही सुस्ती को लेकर भी उन्होंने मुख्यमंत्री से सहयोग की अपील की। उन्होंने कहा मुख्यमंत्री अपने तेवर दिखाएं ताकि काम में ठेकेदार कंपनी ढिलाई न कर सके। अगले साल अक्तूबर तक 104 किलोमीटर लंबी आउटर रिंग रोड का निर्माण हर हाल में पूरा करने की उन्होंने समय सीमा भी तय की।

रक्षामंत्री ने मंगलवार को लखनऊ में 1710 करोड़ की परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। शहर के विकास से जुड़ी 180 परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण भी उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ किया। इस मौके पर उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, डॉक्टर दिनेश शर्मा नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन, कानून मंत्री बृजेश पाठक और महापौर संयुक्ता भाटिया भी प्रमुख रूप से मौजूद रहीं।

सीएम योगी के कार्यों को सराहा

विकास से जुड़ी परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास के बाद राजनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यों को सराहा। उन्होंने कहा, बिना मुख्यमंत्री के सहयोग के वह इन परियोजनाओं को पूरा नहीं कर सकते। डिफेंस कॉरिडोर के तहत बनने वाली मिसाइल फैक्टरी के लिए कई एकड़ जमीन दिए जाने में तेजी दिखाने को लेकर भी मुख्यमंत्री योगी की तारीफ की।

रक्षा मंत्री ने कहा कि किसी भी शहर का विकास उसकी सुविधाओं और यातायात से ही देखा जाता है। वह चाहते हैं कि, लखनऊ का यातायात ऐसा हो कि लोग बिना जाम में फंसे इधर से उधर आ जा सकें, अभी शहर में जाम की बहुत समस्या है। विक्टोरिया स्ट्रीट पर पुल बनने से आप लोग तीन मिनट में ही इधर से उधर आ जा सकेंगे, जबकि पहले 45 मिनट तक का समय लगता था।

उससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहर के विकास से जुड़ी योजनाओं के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कोरोना काल में हुए निवेश के बारे में भी बताते हुए कहा कि जब चीन से निवेश भाग रहा था, तो यूपी में निवेश हुआ। राजधानी और प्रदेश में खुल रहे नए विश्वविद्यालयों के बारे में भी उन्होंने बताया। विकास कार्यों को लेकर उपलब्धियां बताने के साथ ही उन्होंने पिछली गैर भाजपा सरकारों को निशाने पर रखा।

पिछले 14 सालों में प्रदेश नीचे गया है यहां का नौजवान पहचान के लिए तरस रहा है। उन्होंने कहा पहले हर तीसरे दिन प्रदेश में एक दंगा होता था, जिसमें लोगों की जान भी जाती थी और संपत्तियों का भी नुकसान होता था। लोग अपने व्रत त्यौहार और पर्व भी ठीक से नहीं मना पाते थे। सरकार लोगों की सहायता करने के बजाय उन्हें हतोत्साहित करती थी, लेकिन अब वह सब बंद हो गया। प्रदेश में भाजपा की सरकार आने के बाद तेजी से विकास हुआ है अर्थव्यवस्था में अपना प्रदेश छठे स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचा है, 6000 करोड़ से अधिक का निवेश हो चुका है। उपमुख्यमंत्री केशव मौर्य और डॉक्टर दिनेश शर्मा ने भी शहर के विकास को लेकर मुख्य मंत्री और रक्षा मंत्री की सराहना की।

योगी शब्द से बढ़ जाती है अपराधियों के दिलों में दहशत, यह वाक्य रक्षामंत्री ने सीएम योगी की सराहना करते हुए कहीं, उन्होंनें कहा कि प्रदेश की कानून व्यवस्था इतनी सख्त है। ​कि योगी शासन के नाम से अपराधी कांपते है। योगी और मोदी की जोड़ी से देश और प्रदेश आगे बढ़ रहा है उन्होंने कहा किसी भी देश और प्रदेश को चलाने के लिए उसी कानून व्यवस्था का बेहतर होना बहुत जरूरी है उसके लिए शक्ति भी आवश्यक है जिसके लिए योगी और मोदी दोनों का काम सराहनीय है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here