यूपी का रण: सपा में शामिल हुए माफिया मुख्तार अंसारी के बड़े भाई सिब्कातुल्लाह

278
Rann of UP: Mafia Mukhtar Ansari's elder brother Sibkatullah joined SP
पंचायत चुनाव के दौरान ही अंसारी बंधुओं बसपा छोड़ने की भूमिका तैयार हो गई थी, इसके लिए कई दौर की बातचीत की गई।

लखनऊ। लंबे समय बाद पुलिस के शिकंजे में आए मुख्तार अंसारी के भाई सिब्कातुल्लाह अंसारी शनिवार को समर्थकों के साथ सपा में शामिल हो गए। उनके साथ अंबिका चौधरी ने भी सपा की सदस्यता ली। इस अवसर पर चौधरी भावुक भी हो गए जिस पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उन्हें सांत्वना दी।

आपकों बता दें कि सिब्कातुल्लाह अंसारी गाजीपुर के मोहम्मदाबाद विधानसभा क्षेत्र से 2007 में सपा और 2012 में कौमी एकता दल से विधायक रहे। 2017 में बसपा से मैदान में उतरे, लेकिन पराजय का सामना करना पड़ा। पंचायत चुनाव के दौरान ही अंसारी बंधुओं बसपा छोड़ने की भूमिका तैयार हो गई थी, इसके लिए कई दौर की बातचीत की गई।

विधानसभा चुनाव के लिए फूंक-फूंक कर कदम रख रही सपा— बसपा विधायक मुख्तार अंसारी और सांसद अफजाल अंसारी को पार्टी की सदस्यता दिलाने से अभी परहेज कर रही है। ऐसे में बीच का रास्ता निकालते हुए उनके बड़े भाई सिब्कातुल्लाह अंसारी को सदस्यता दिलाई गई। दरअसल, पूर्वांचल की 10 सीटों पर अंसारी बंधुओं का प्रभाव है। मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव सरकार में मंत्री रहे अंबिका चौधरी भी सपा में शामिल हो गए।

अंबिका चौधरी 1993 से लगातार कोपाचीट (अब फेफना) विधानसभा सीट से विधायक रहे। वर्ष 2012 में भाजपा के उपेंद्र तिवारी से चुनाव हारे। 2017 में बसपा के टिकट पर फेफना से चुनाव लड़े, लेकिन सफलता नहीं मिली। इसके बाद उन्होंने बसपा से इस्तीफा दे दिया था। पंचायत चुनाव के दौरान उनके बेटे आनंद चौधरी ने सपा की सदस्यता ली थी और जिला पंचायत अध्यक्ष बन गए तभी से अंबिका के सपा में लौटने की चर्चा थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here