सलाहकारों पर घिरे सिद्धू, मनीष तिवारी बोले- ऐसे लोगों को कांग्रेस छोड़ो, देश में रहने का हक नहीं

417
Sidhu surrounded by advisors, Manish Tewari said - leave Congress such people, they do not have the right to live in the country
कांग्रेस नेता ने सिद्धू के दोनों सलाहकारों की कथित टिप्पणियों को लेकर यह बयान दिया।

नई दिल्ली। पंजाब कांग्रेस के नवनियु​क्त प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू अपने सलाहकारों की हरकतों की वजह से बुरी तरह से फंस चुके हैं। अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनीष तिवारी ने सिद्धू के दो सलाहकारों की कथित विवादित टिप्पणियों को लेकर सोमवार को पार्टी नेतृत्व से इस पर आत्ममंथन करने का आग्रह किया है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि क्या ऐसे लोगों को पार्टी में होना चाहिए जो जम्मू-कश्मीर को भारत का हिस्सा नहीं मानते और जिनका रुझान पाकिस्तान समर्थक है।

पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार प्यारे लाल गर्ग और मलविंदर सिंह माली की पाकिस्तान और कश्मीर पर टिप्पणी पर कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने पूछा,”क्या ऐसे लोगों को देश में रहने का भी अधिकार है? पार्टी में रहना तो दूर की बात है, ऐसे लोगों को देश में नहीं रहना चाहिए।

त्योहार के दिन खत्म हो गया भाई का परिवार, बहनें करतीं रही उसका इंतजार

कांग्रेस नेता ने सिद्धू के दोनों सलाहकारों की कथित टिप्पणियों को लेकर यह बयान दिया। पूर्व केंद्रीय मंत्री तिवारी ने ट्वीट किया,मैं कांग्रेस महासचिव एवं पंजाब के प्रभारी हरीश रावत से आग्रह करता हूं कि इसको लेकर गंभीरता से आत्ममंथन करें कि जो जम्मू-कश्मीर को भारत का हिस्सा नहीं मानते और जिनका स्पष्ट रूप से पाकिस्तान समर्थक रुझान है, क्या उन्हें कांग्रेस की पंजाब इकाई का हिस्सा होना चाहिए? यह उन सभी लोगों का मजाक है जिन्होंने भारत के लिए अपना खून बहाया है।

प्यारे लाल गर्ग ने मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह द्वारा की गई पाकिस्तान की आलोचना पर सवाल उठाया था। दूसरी तरफ, माली ने संविधान के अनुच्छेद 370 को रद्द करने के मुद्दे पर बात की थी, जिसके तहत तत्कालीन राज्य जम्मू-कश्मीर को एक विशेष दर्जा मिला हुआ था। उन्होंने कथित तौर पर कहा था कि अगर कश्मीर भारत का हिस्सा था तो धारा 370 और 35ए हटाने की क्या जरूरत थी। इससे पहले अमरिंदर सिंह ने इन कथित टिप्पणियों को लेकर रविवार को सिद्धू से कहा कि वह अपने सलाहकारों को काबू में रखें।

इसे भी पढ़ें…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here