कानपुर में बहन के शरीर पर मारपीट के निशान देख भाई ने खोया आपा,बहनोई को सुलाई मौत की नींद

178
Brother lost his temper after seeing marks of assault on sister's body in Kanpur, brother-in-law sleeps to death
संध्या के शरीर पर चोट के निशान थे। भाई बीरू ने यह देखकर संध्या से पूछताछ की तो वह फफक कर रोने लगी।

कानपुर। यूपी के कानपुर शहर में रक्षाबंधन के दिन एक भाई ने बहन के शरीर पर मारपीट के निशान देखकर आग बबूला हो गया, उसने आक्रोश में आकर अपने बहनोई गैंती मारकर हत्या कर दी। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मृतक अपनी पत्नी से मारपीट करता था।

रविवार को जब महिला अपने भाई को राखी बांधने पहुंची तो भाई ने बहन से घाव के निशान के बारे में पूछा तो बहन ने रो-रोकर पति की प्रताड़ना की कहानी सुनाई, इसके बाद भाई से बहन का दर्द नहीं सहा गया, उसने आक्रोश में आकर बहनोई को मौत की नींद सुला दी।

रक्षाबंधन पर बहन अपने मायके बिधनू के गंगापुर कॉलोनी में आई तो भाई को अपनी पीड़ा बताई तो गुस्से में आए भाई ने बहनोई की गैती से हत्या कर दी। बहनोई कई सालों से उसकी बहन को प्रताड़ित कर रहा था। उसके पूरे शरीर पर पिटाई के निशान थे। यह देखकर भाई से रहा नहीं गया और कहासुनी के बाद उसने बहनोई की गैती से सिर पर हमला करके हत्या कर दी।

2008 में संध्या की हुई थी शादी

बिधनू के गंगापुर कॉलोनी में रहने वाले कार ड्राइवर भानु बाजपेई उर्फ अनुज (42) की शादी 2008 में इलाके के ही पी-ब्लॉक निवासी रिटायर बीएसएनएल कर्मी रामबाबू मिश्रा की बेटी संध्या से हुई थी। दंपति के दो बच्चे अनिकेत और बेटी महक है। रामबाबू की मानें तो शादी के दो साल बाद ही ससुरालीजनों की बेटी संध्या को दहेज के लिए प्रताड़ित करना शुरू कर दिया था।

इससे तंग आकर संध्या ने पति व ससुरालजनों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई थी। लेकिन दोनों पक्षों के लोगों ने बैठकर समझौता करा दिया था। इसके बाद सबकुछ सामान्य चल रहा था, लेकिन पति की प्रताड़ना कम नहीं हुई थी,महिला भी किसी तरह से सब सहती जा रही थी। लेकिन रक्षाबंधन पर पति की मारपीट के निशान को वह छिपा नहीं पाई

घर वालों से बगावत कर जिसे चुना हमसफर उसी ने लगाया जीवन के सफर पर विराम

संध्या के शरीर पर चोट के निशान थे। भाई बीरू ने यह देखकर संध्या से पूछताछ की तो वह फफक कर रोने लगी। बोली भईया रोज-रोज की पिटाई से कलेजा भर गया है। पूरा शरीर पिटाई से काला पड़ा हुआ है। पति रोज शराब पीने के बाद मेरी पिटाई करता है। रोज की मारपीट से अब मैं आजिज हो चुकी हूं।

रात में पति भानु उसे लेने ससुराल आया तो बीरू की इसी बात को लेकर कहासुनी शुरू हो गई। भानु वाजपेई ने इसका विरोध करते हुए ससुराल में हंगामा और गाली-गलौज किया। बीरू ने पहले बहनोई को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वह नहीं माना तो गैती से सिर पर ताबड़तोड़ वार करके बहनोई भानु की हत्या कर दी। शोर सुनकर संध्या समेत परिवार के सभी लोग दौड़े लेकिन सिर पर ताबड़तोड़ वार करने से भानु की मौके पर ही मौत हो गई।

आरोपी गिरफ्तार

सीओ सदर पवन कुमार गौतम ने बताया कि हत्यारोपित बीरु को मौके से गिरफ्तार कर लिया गया है। इसके साथ ही हत्या में इस्तेमाल गैती बरामद कर ली गई है। बीरू के खिलाफ हत्या की एफआईआर दर्ज कर ली गई है।बहन को प्रताड़ित करने वाले बहनोई की हत्या करने के बाद बीरू बोला, मुझे बहनाई की हत्या का कोई पछतावा नहीं है। बहनोई ने सहनशीलता की सभी हदें पार कर दी। इसलिए उसकी हत्या की। गलती होने के बाद भी वह लगातार मुझसे झगड़ रहा था। इसी वजह से गुस्से में आकर मैंने उसकी हत्या की है।

इसे भी पढ़ें…

गृहक्लेश से तंग महिला ने तीन बच्चों के साथ लगाई यमुना में छलांग, चारों की मौत

जौनपुर में पति करता था रोज झगड़ा, इसलिए पत्नी ने गुस्से में बेटे को मार डाला

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here