Tuesday, October 4, 2022
Homeराज्यमध्य प्रदेशप्रेमी को थप्पड़ मारा तो बेटी ने प्रेमी के दोस्त को घर...

प्रेमी को थप्पड़ मारा तो बेटी ने प्रेमी के दोस्त को घर बुलाकर पिता को मरवा डाला

ग्वालियर। मध्यप्रदेश के शहर ग्वालियर में अवैध प्रेम प्रसंग में पड़कर एक किशोरी ने अपने प्रेमी के दोस्त के हाथों अपने पिता की हत्या करवा डाली। बेटी ने अपने पिता को इसलिए मरवा दिया क्योंकि उसके ​पिता ने उसके प्रेमी को थप्पड़ मार दिया था। इसके बाद बेटी ने क्राइम सीरियल देखकर पिता की हत्या की साजिश रच डाली।

किशोरी ने पहले अपने प्रेमी के हाथों हत्या करवाने की साजिश रची, लेकिन जब वह तैयार नही हुआ तो उसने अपने प्रेमी के एक दोस्त को अपने जाल में फंसाया उसे उसकी गर्लफ्रेंड बनने और रुपए का लालच दिया। आरोपी को हत्या से पहले ही अपने घर में एन्ट्री कर एक कमरे में छुपा दिया। रात 2 बजे उसने गोली मार कर हत्या कर दी। पुलिस ने बेटी और उसके प्रेमी के दोस्त को गिरफ्तार कर लिया है।

यह था मामला

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ग्वालियर के थाटीपुर के तृप्ति नगर निवासी 58 वर्षीय रविदत्त दुबे पुत्र ओमप्रकाश दुबे कलेक्टोरेट के निर्वाचन शाखा में क्लर्क थे। वह 4-5 अगस्त की दरमियानी रात खाना खाने के बाद घर की पहली मंजिल पर परिवार के साथ सोए हुए थे।

कमरे में उनकी पत्नी भारती, बड़ी बेटी कृतिका दुबे, 17 वर्षीय बेटी, बेटा 12 वर्षीय रूपेन्द्र सो रहे थे। रात करीब 2 बजे अचानक कमरे में धमाके की आवाज आई और जब सभी जागे तो बिस्तर पर रवि के पेट व मुंह से खून निकल रहा था। जब उनको चेक किया तो वह दम तोड़ चुके थे। मामले की सूचना पुलिस को दी गई। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और जांच शुरू कर दी। फोरेंसिक एक्सपर्ट की जांच के बाद शव को डेड हाउस भेज दिया गया था।

इस तरह पकड़े गए हत्यारे

क्लर्क की हत्या के बाद जब पुलिस घर पहुंची तो शुरूआती जांच में यकीन हो गया कि इस हत्या के पीछे घर के किसी सदस्य का हाथ है। पुलिस ने बारी-बारी से घर के सभी सदस्यों से पुछताछ की। संदेह की सूई रविदत्त की छोटी बेटी पर घूमी। पुलिस ने उसके मोबाइल की कॉल डिटेल निकाली तो कई अहम जानकारी मिलीं। बीते 15 दिन से एक पुष्पेन्द्र नाम के लड़के से लगातार वह संपर्क कर रही थी।

आसपास के लोगों से पता लगा था कि उसका किसी करन राजौरिया नाम के लड़के से प्रेम प्रसंग चल रहा था। यह बात उसके पिता को पता चल गई थी। इस पर उसके पिता ने प्रेमी की मारपीट कर दी। यह बात को उसने अपने मन में रख लिया और पिता को रास्ते से हटाने की ठान ली।

प्रेमी नहीं तो उसके दोस्त को पटाया

बेटी ने पिता की हत्या की साजिश 15 दिन पहले बनाई। सबसे पहले प्रेमी करन से पिता को रास्ते से हटाने के लिए कहा, लेकिन करन ने मना कर दिया। तब करन के दोस्त पुष्पेन्द्र लोधी से संपर्क किया। उसे पैसों का लालच और करन से दोस्ती तोड़कर उसके साथ प्रेम करने का वादा कर उसे हत्या के लिए राजी कर लिया। फिर उसे घर बुलाकर कट्टे से उसके हाथों से गोली मारकर पिता की हत्या करा दी।

हत्यारिन बेटी कितनी शातिर है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है। गल्ला कोठार निवासी पुष्पेन्द्र को 4 अगस्त की रात करीब 10 बजे उसने घर बुला लिया था। उसे नीचे कमरे में ठहरा दिया, जबकि परिवार के बाकी लोग पहली मंजिल पर थे।

कुछ देर बाद परिजन सो गए। उधर इंतजार करते करते पुष्पेन्द्र भी सो गया था। रात करीब 2 बजे बेटी नीचे आई और उसे जगाया। उससे कहा तुम्हें काम तमाम करने के लिए बुलाया और तुम सो रहे हो। फिर उसे पहली मंजिल पर लेकर पहुंची। जहां पिता सो रहे थे। पुष्पेन्द्र ने कट़्टा निकाला और रविदत्त के गोली मारकर हत्या कर दी।

इसे भी पढ़ें…

रूठी घर वाली को बुलाने पति ने बेटे को कफन ओढ़ाया, बेटी के गले में डाला फंदा, भेज दी फोटो

एमपी में चरित्र संदेह में पति ने पत्नी की गर्दन काटी और पहुंच गया थाने

Google search engine
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments