देश को अंडर-19 वर्ल्डकप जिताने वाले 28 साल के कप्तान उन्मुक्त चंद ने लिया सन्यास

388
Unmukt Chand, the 28-year-old captain who won the Under-19 World Cup for the country, retired
26 मार्च 1993 को जन्मे उन्मुक्त चंद ने साल 2010 में मात्र 17 साल की उम्र में रणजी टीम दिल्ली के लिए डेब्यू किया था।

स्पोर्टस डेस्क। देश के लिए गौरव का पल लाने वाले एक बेहतरीन खिलाड़ी ने उपेक्षा के चलते मात्र 28 साल की उम्र में क्रिकेट की दुनिया को अलविदा कह दिया। हम बात कर रहे है। देश के लिए टीम इंडिया को अंडर-19 वर्ल्डकप जिताने वाले कप्तान उन्मुक्त चंद की ।

उन्मुक्त चंद ने मात्र 28 साल की उम्र में सन्यास ले लिया है। आपकों बता दें कि वह 10 साल से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर टीम इंडिया के लिए डेब्यू का इंतजार कर रहे थे। लेकिन, उन्हें टीम इंडिया के लिए खेलने का मौका नहीं मिला। ऐसा माना जा रहा है कि भविष्य में वह किसी दूसरे देश की ओर से खेलते नजर आएंगे।

मात्र 17 साल की उम्र में ​खेला था रणजी

आपको बता दें कि दिल्ली में 26 मार्च 1993 को जन्मे उन्मुक्त चंद ने साल 2010 में मात्र 17 साल की उम्र में रणजी टीम दिल्ली के लिए डेब्यू किया था। दो साल तक डॉमेस्टिक क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन करने के बाद उन्मुक्त को साल 2012 में खेले गए अंडर-19 वर्ल्डकप में टीम इंडिया की कप्तानी सौंपी गई। वर्ल्डकप के फाइनल में उन्होंने शानदार 111 रन की शतकीय पारी खेलते हुए भारत को वर्ल्डकप जिताया था।

 

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Unmukt Chand (@unmuktchand_official)

 

10 साल के लंबे करियर में 28 साल के उन्मुक्त चंद ने दिल्ली रणजी टीम, अंडर-19 टीम इंडिया, अंडर-23 टीम इंडिया, इंडिया ए की कमान संभाली। उन्मुक्त चंद 18 साल की उम्र में आईपीएल में डेब्यू किया और वह दिल्ली डेयरडेविल्स, मुंबई इंडियंस और राजस्थान रॉयल्स के लिए क्रिकेट खेला। वह उत्तराखंड के लिए भी डॉमेस्टिक क्रिकेट खेल चुके हैं।

सबसे बड़ा सपना रह गया अधूरा

उन्मुक्त चंद अपनी कई शानदार पारियों के लिए याद किए जाएगें। उन्मुक्त चंद को कभी टीम इंडिया के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर डेब्यू करने का मौका नहीं मिला। इंडिया के लिए खेलने का उनका सपना पूरा नहीं हो सका। उन्मुक्त चंद ने 13 अगस्त को सन्यास की घोषणा कर दी है।

माना जा रहा है कि वह अमेरिकी टीम के लिए खेलते देखे जा सकते हैं।अंडर-19 वर्ल्डकप में उन्मुक्त चंद के साथी खिलाड़यों में से केवल दो संदीप शर्मा और हनुमा विहारी को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर टीम इंडिया के लिए खेलने का मौका मिला। संदीप शर्मा ने दो टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में टीम इंडिया के लिए खेल चुके हैं। इसी तरह हनुमा विहारी टीम इंडिया के लिए 12 टेस्ट मैच खेल चुके हैं। हनुमा वर्तमान में इंग्लैंड में चल रही टेस्ट सीरीज में भी टीम इंडिया का हिस्सा हैं।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Unmukt Chand (@unmuktchand_official)

खाते में 9 हजार रन, 18 शतक दर्ज

बेहतरीन क्रिकेटर उन्मुक्त चंद ने अपने 10 साल के करियर में फर्स्ट क्लास, लिस्ट ए और टी20 के कुल 264 मैच खेले और इनमें 9449 रन बनाए। इन मैचों में उन्मुक्त ने 18 शानदार शतक और 53 अर्धशतक लगाए हैं। उन्मुक्त चंद आखरी बार जनवरी 2020 में खेले गए फर्स्ट क्लास मैच में हरियाणा के खिलाफ उत्तराखंड के लिए खेले थे। सन्यास के बाद वह अमेरिका के लिए खेलते दिखाई दे सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here