मेरठ में जल्लाद बना पिता, पत्नी नहीं आई साथ तो दो बेटियों का गला घोंटकर मार डाला

541
Father became hangman in Meerut, wife did not come along, then strangled two daughters to death
पुलिस ने दोनों बच्चियों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

मेरठ। यूपी के मेरठ शहर में एक पिता जल्लाद बन गया। इस जल्लाद पिता ने अपनी दो बेटियों का गला घोंटकर हत्या कर दी। आरोपियों ने अपनी फूल सी बच्चियों की हत्या इसलिए की क्योंकि उसके शराब के नशे के कारण के उसकी पत्नी घर छोड़कर चली गई थी। मनाने के बाद भी जब वह साथ नहीं आई तो आरोपित ने पिता बेटियों को ससुराल से लेकर शुक्रवार शाम को लौटा और रात में गला दबाकर हत्या कर दी। बेटियों की हत्या करने के बाद आरोपी नशे में धुत होकर मोहल्ले में शोर मचाकर बोला, जैसे बेटियों को मार दिया है वैसे ही पत्नी को भी मार डालूंगा। लोगों ने इस हैवानियत की सूचना पुलिस को दी। दो बच्चियों की हत्या की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची गई। पुलिस के आने से पहले आरोपी फरार हो गया। पुलिस ने दोनों बच्चियों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

मेरठ के कंकरखेड़ा क्षेत्र के अनूपनगर फाजलपुर अंबेडकर निवासी अरुण कुमार (38 साल) का अपनी पत्नी नीशू से 5 महीने से विवाद चल रहा है। इस विवाद के चलते महिला पति को छोड़कर मायके जानी गांव में चली गई। अरुण ने पत्नी को लाने का प्रयास भी किया, लेकिन पत्नी ने पति के साथ आने से इंकार कर दिया। शुक्रवार को अरुण अपनी ससुराल जानी गांव में गया और वहां पत्नी से खूब झगड़ा किया इसके बाद अपनी 6 साल की बेटी सृष्टि और 4 साल की बेटी नैना को लेकर अपने घर फाजलपुर आ गया।

उसके पड़ोस के लोगों ने पुलिस को बताया कि शुक्रवार देर शाम ही अरुण कहीं से शराब पीकर आया था। शुक्रवार रात करीब 11 बजे अरुण ने अपनी दोनों बेटियों की गला दबाकर हत्या कर दी। देर रात अरुण ने अपने घर से कुछ दूरी पर शोर मचाते हुए कहा कि मैंने बच्चों को मार दिया है और उनकी लाश कमरे में पड़ी है। अब पत्नी को भी जिंदा नहीं छोडूंगा, जब तक गांव वाले उसकी बात समझते तब तक आरोपी फरार हो गया।

घटना की सूचना पर सीओ दौराला आशीष शर्मा व इंस्पेक्टर कंकरखेड़ा तपेश्वर सागर मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली। पुलिस ने दोनों बच्चियों के शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिए। इंस्पेक्टर का कहना है कि आरोपी की तलाश की जा रही है।

मौके पर जाकर इंस्पेक्टर तपेश्वर सागर और सीओ आशीष शर्मा ने भी जांच -पड़ताल की। फॉरेंसिक टीम को भी रात में घटनास्थल पर बुलाया गया। पुलिस ने बताया कि कमरे का दरवाजा खुला हुआ था और दोनों बच्चियों के शव चारपाई पर पड़े हुए थे। फॉरेंसिक टीम ने जांच की तो पता चला कि गले पर निशान हैं। आरोपी को पुलिस खोज रही है।

इसे भी पढ़ें…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here