अलीगढ़ में बड़ा हादसा:रेलवे लाइन पार करते समय महिला व उसके दो बच्चों की मौत

258
Major accident in Aligarh: Woman and her two children died while crossing railway line
यह जल्दबाजी के चक्कर में आठ लोग प्लेटफार्म संख्या पांच से चार की ओर रेलवे लाइन पार कर रहे थे।

अलीगढ़। अलीगढ़ रेलवे स्टेशन पर शुक्रवार सुबह बड़ा हादसा हो गया। इस हादसे में महिला एवं उसके दो बच्चों की मौके पर ही मौत हो गई। अलीगढ़ा रेलवे स्टेशन पर रेल लाइन पार करते समय एक महिला और उसके दो बच्चों की विक्रमशिला एक्सप्रेस की चपेट में आने से दर्दनाक मौत हो गई।

महिला के साथ में चल रहे घर वालों ने बताया कि वह दिल्ली में बीमार चल रही अपनी बहन को देखने के लिए जा रही थी। तभी ट्रेन की चपेट में आने से उसकी और उसके दो बच्चों की मौत हो गई। रेलव स्टेशन पर एक साथ तीन लोगों की कटकर मौत होने से स्टेशन पर सुबह-सुबह अफरा-तफरी मच गई।

जल्दबाजी में हुआ हादसा

इंस्पेक्टर आरपीएफ चमन सिंह तोमर ने बताया कि थाना रोरावर क्षेत्र के महमूद नगर निवासी मोहम्मद अजीज की 30 वर्षीय पत्नी शहाना बेगम दिल्ली में बीमार चल रही बड़ी बहन को देखने के लिए स्टेशन पर पहुंची थी। यहां से उन्हें ईएमयू पैसेंजर ट्रेन से दिल्ली जाना था। यह जल्दबाजी के चक्कर में आठ लोग प्लेटफार्म संख्या पांच से चार की ओर रेलवे लाइन पार कर रहे थे। इनमें शहाना की तीन बहनों के साथ ही उनके बच्चे भी शामिल थे।

इसी बीच सुबह करीब पांच बजे कानपुर से दिल्ली की ओर जा रही सुपरफास्ट विक्रमशिला एक्सप्रेस वहां से गुजरी। प्लेटफार्म पर खड़े यात्रियों ने शोर मचाकर उन्हें रोकने की कोशिश की, लेकिन इसी बीच ट्रेन की चपेट में आकर शहाना उनका 18 माह का बेटा अल्फेस व पांच वर्षीय सुभान पुत्र इश्तियाक की मौके पर ही मौत हो गई।

आठ लोग पार कर रहे थे लाइन

हादसे के बाद स्टेशन पर हड़कंप मच गया। सूचना मिलते ही आरपीएफ व जीआरपी का फोर्स मौके पर पहुंच गया। हादसे के बाद साथ चल रहे घर वाले बेहाल हो गए। शुक्र है कि लोगों के रोकने पर बाकी लोग रूक गए नहीं तो सभी लोग काल के गाल में समा जाते। मौके पर मौजूद लोगों ने बताया कि आठ लोगों का समूह रेलवे लाइन पार कर र​हा था। इन लोगों ने किसी  लाइन पार करने से पहले एक बार भी इधर-उधर नहीं देखा जबकि ट्रेन आने के लिए सिग्नल हो चुका था। यह तो अच्छा रहा कि प्लेटफार्म पर मौजूद लोगों ने शोर मचाकर और लोगों रेलवे ट्रैक पर चढ़ने से रोका, अन्यथा आठों लोगों की मौत हो सकती थी।

इसे भी पढ़ें…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here