आजमगढ़ में सिलेंडर में आग लगने से तीन सगी बहनें झुलसीं, दो की मौत, तीसरी गंभीर

473
Three real sisters scorched due to cylinder fire in Azamgarh, two killed, third critical
एक साथ दो बच्चियों की मौत से मां गहरे सदमें में चली गई, वहीं पूरे गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है।

आजमगढ़। यूपी के आजमगढ़ जिले में रविवार शाम को दिल को झकझोरने वाली वाली घटना सामने आई। यहां रसोई घर में सिलेंडर में आग लगने से तीन मासूम बहनें झुलस गई। इससे दो बहनों की मौत हो गई, जबकि तीसरी मौत और जिंदगी से जंग लड़ रही है।

यह हृदयविदारक घटना आजमगढ़ के नगर पंचायत माहुल के इमामगढ़ मोहल्ले में रविवार की शाम रसोई गैस सिलेंडर के पाइप में रिसाव के चलते आग लग गई, दो मासूम बच्चियों की झुलस कर मौत हो गई, एक बच्ची गंभीर रूप से झुलस गई, हादसे से परिवार में कोहराम मचा है।

आपकों बता दें कि माहुल इमामगढ़ निवासी दिनेश यादव कस्बे में मिठाई की दुकान पर काम करके परिवार का पेट पालता है। घर में उसके अलावा पत्नी और तीन बेटियां थी। रविवार शाम को उसकी पत्नी माधुरी रसोई में खाना बना रही थी, रसोई में ही उसकी तीनों बच्चियां दीपांजलि(11), सियांशी(6) और श्रेजल(4) साथ में बैठी थी। इस बीच माधुरी किसी काम से रसोई से बाहर चली गई, लेकिन बच्चियां वहीं पर बैठी रह गई।

इसी दौरान गैस सिलेंडर के पाइप और रेगुलेटर से हुए रिसाव के चलते अचानक आग लग गई, देखते ही देखते आग पूरी रसोई में फैल गई, तीनों बच्चियां आग की चपेट में आकर आ गई। ।आग से घिरने के बाद ​बच्चियां चीखने चिलाने लगी।बच्चियों के रोने की आवा सुनकर मां माधुरी भागते हुए रसोई में आई आग देखकर उसके भी होष उड़ गए बच्चियों को बचाने के लिए वह चिलाने लगी।

माधुरी की आवाज सुनकर आसपास के लोग भी मौके पर पहुंचे। लोगों ने हिम्मत दिखाकर किसी तरह बालू डालकर आग पर काबू पाया और तीनों बच्चियों को रसोई से निकाल कर इलाज लिए पास के प्राइवेट अस्पताल ले गए। जहां डॉक्टर ने जांच के बाद दीपांजलि व सियांशी को मृत घोषित कर दिया। वहीं, श्रेजल को इलाज के लिए जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया।

दो बच्चियों की मौत से मां सदमें में

एक साथ दो बच्चियों की मौत से मां गहरे सदमें में चली गई, वहीं पूरे गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है। बच्चियों के मां—बाप समेत पूरे मोहल्ले का रो-रोकर बुरा हाल है। पुलिस सूचना पर पहुंचकर दोनों बच्चियों के शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेज दिया। मृतक ​बच्चियों के घर के बाहर ढांढस बधाने वालों का तांता लगा हुआ है।

इसे भी पढ़ें…

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here