गजब : 20 किमी तक नदी में लकड़ी के सहारे बहती रही महिला, ऐसे बची जान

292
Wonderful woman flowing in the river for 20 km with the help of wood, her life was saved
इलाज के बाद महिला होश में आई और उसने अपना नाम जय देवी (50) पत्नी स्व. सुदर्शन सिंह यादव निवासी ग्राम लीची का डेरा शारदा नगर थाना कदौरा जिला जालौन बताया।

जालौन। यूपी के जालौन जिले से एक महिला की दिलेरी का मामला समाने आया है। दरअसल जालौन के थाना कदौरा के लीची डेरा में नाले में फिसलकर गिरी महिला बहकर यमुना नदी में आ गई। जानकारी होते ही पुलिस कर्मियों ने उसे मछुआरों के सहयोग से बेहोशी की हालत में बाहर निकाला। होश में आने पर महिला ने जो बताया उसे सुनकर किसी के भी होष उड़ जाएं, पुलिस ने पुलिस ने परिजनों को सूचना देकर बुलाया और सुपुर्द कर दिया।

शुक्रवार की सुबह यमुना नदी में बहकर जा रही महिला को ग्रामीणों ने देखा। मनकीखुर्द गांव के चौकीदार रामसजीवन ने नदी में बह रही महिला की सूचना थाने में दी। सूचना मिलते ही मनकी पुलिस चौकी के उपनिरीक्षक भारत यादव हेड कांस्टेबल शोहराव खान, देवेश कुमार और होमगार्ड कमलनाथ के साथ यमुना नदी के किनारे पहुंचे। नाविकों और मछुआरों की मदद से यमुना से महिला को निकाला।इलाज के बाद महिला होश में आई और उसने अपना नाम जय देवी (50) पत्नी स्व. सुदर्शन सिंह यादव निवासी ग्राम लीची का डेरा शारदा नगर थाना कदौरा जिला जालौन बताया। लकड़ी के सहारे महिला 20 किमी दूर नदी में बहती हुई मनकी खुर्द गांव के सामने मिली है।

महिला ने बताया कि वह गुरुवार की शाम करीब पांच बजे अपना खेत देखने गई थी। कालिंदर नाला पार करते समय पैर फिसल जाने से वह नाले में गिर गई और बहती हुई यमुना नदी में चली आई। महिला के परिजनों को जानकारी दी गई। मौके पर पहुंचे पुत्र राहुल और पुत्री विनीता को सुपुर्द कर दिया गया।

इसे भी पढ़ें…

अब कंपनियां छुट्टी का बहाना करके नहीं आगे बढ़ा पाएंगी सैलरी की तारीख

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here