मप्र में पति की हत्या कर कब्र पर पौधे रोपे, पुलिस को गुमराह करने खुद लगाई कोर्ट में याचिका

317
In MP, after killing her husband, planted saplings on the grave, filed a petition in the court to mislead the police
यह मामला ग्वा​लियर के हस्तिनापुर स्थित चपरोली मौजा का है। यहां एक खेत में बने पुराने कुएं से एक युवक का उ कंकाल बरामद हुआ है।

ग्वालियर। ​सिनेमा समाज का आइना होता है। सिनेमा में बहुत कुछ समाज में होने वाले घटनाक्रम को दिखाया जाता है। लेकिन सिनेमा सीख लेकर कुछ लोग जघन्य अपराध करके पुलिस से बचने की नाकाम कोशिश करते है, लेकिन कानून के शिकंजे में फंस ही जाते है। कुछ ऐसी ही जघन्य वारादात की कहानी मध्यप्रदेश के ग्वालियर जिले से सामने आई। यहां एक महिला ने अवैध संबंध को जारी रखने के लिए अपने प्रेमी और उसके दोस्त के साथ मिलकर पति को मौत की नींद सुला दी। फिर शव को एक कुएं में फेंक दिया। इसके बाद कुएं को ढंककर उसके उपर पौधा लगा दिया किसी को शक न हो इसलिए महिला रोज पौधे को पानी भी देती थी। इसके ​अलावा खुद पति की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराने के बाद जब पुलिस खोज नहीं पाई तो कोर्ट में याचिका लगाकर पुलिस पर दबाव बनाने का काम भी करती रही, लेकिन आखिरकार उसकी लाख चालाकी धरी की धरी रह गई वह और उसके पुररुष मित्र पकड़े गए।

यह मामला ग्वा​लियर के हस्तिनापुर स्थित चपरोली मौजा का है। यहां एक खेत में बने पुराने कुएं से एक युवक का उ कंकाल बरामद हुआ है। आरोपियों ने कुएं में लाश फेंकने के बाद उस पर लकड़ी के पटिए रख ऊपर से मिट्‌टी डाल कर पौधा लगा दिया था, जो इन 11 महीनों में पेड़ बन चुका था। पुलिस ने आरोपी पत्नी, उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया है। दोस्त फरार है। आरोपी महिला ने पुलिस को गुमराह करने और हत्या से लेकर शव ठिकाने लगाने की साजिश क्राइम पेट्रोल से सीखी।

ऐसे समझिए पूरा मामला

ग्वलियर के भितरवार के मोहनगढ़ निवासी फेरन सिंह जाटव (35 साल) 11 महीने पहले 6 अगस्त को गायब हो गया था। उसकी पत्नी मालती (30 साल) ने भितरवार थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। जांच एडीओपी भितरवार अभिनव बारंगे को सौंपी गई। इधर, पत्नी ने पुलिस पर पति की तलाश न करने का आरोप लगाते हुए कोर्ट में बंदी प्रत्यक्षीकरण रिट दायर कर दी। कोर्ट में मामला जाते ही पुलिस और गहराई से जांच में जुट गई।

पुलिस पड़ताल में सामने आया कि मालती का चाल-चलन ठीक नहीं है। कृपालपुर निवासी रामअवतार जाटव से उसके प्रसंग की बात पता चली। इसी दौरान लापता फेरन के भाई ने भी अपनी भाभी पर संदेह जताया था, लेकिन पुलिस के सामने परेशानी यह थी कि जब भी सख्ती से पूछताछ करना चाहती, मालती कोर्ट में जाकर खड़ी हो जाती।

ऐसे में पुलिस ने मालती की जगह, उसके प्रेमी राम अवतार को निशाना बनाते हुए पूछताछ के लिए चुना। पुलिस ने राम अवतार को लगातार चार दिन बुलाकर पूछताछ करती रही, हर बार उसके बयान अलग-अलग होते थे। पुलिस ने जब सख्ती की तो उसने सब कुछ उगल दिया। राम अवतार ने बताया कि उसने, मालती और दोस्त शिवराज के साथ फेरन की हत्या कर दी। शिवराज अभी फरार है। पुलिस मालती के घर पहुंची और उसे सामान्य पूछताछ करने की कहकरथाने ले आई। यहां राम अवतार को हिरासत में देख मालती ने भी अपना जुर्म स्वीकार कर लिया।

आरोपितों ने बताया कि मालती और राम अवतार के बीच अवैध संबंध थे। इसका पता उसके पति को चल गया था। 6 अगस्त 2020 को फेरन सिंह को पार्टी करने के लिए शिवराज और राम अवतार ग्वालियर के हस्तिनापुर स्थित चपरोली मौजा के एक खेत में ले गए। यहां पत्नी के सामने राम अवतार और शिवराज ने पत्थर और लोहे के सरिए से हमला कर फेरन की हत्या कर दी। इसके बाद शव को एक पुराने कुएं में फेंक दिया और ऊपर से मिट्‌टी डालकर पौधा लगा दिया। मालती की निशानदेही पर पुलिस ने कुएं से पौधा जो अब पेड़ बन चुका था, को कटवाया। गोताखोर ने कुएं से कंकाल बरामद किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here