खुशियां बदली मातम में दुल्हन की जगह, घर पहुंची सात बारातियों की मौत की खबर

553
Happiness changed instead of bride in mourning, news of the death of seven wedding brides reached home, know the whole matter
टायर पंक्चर होने के बाद चालक बस को सड़क पर ही खड़ी करके टायर बदल रहा था। इस बीच बाराती भी बस से उतर कर सड़क पर खड़े हो गए।

संभल। यूपी के संभल जिले में रविवाद देर रात बहुत बड़ा हादसा हो गया। यहां शादी की खुशियों के बीच रोने—धोने की चित्कारे सुनाई देने लगी। क्योंकि शादी का खाना खाकर लौट रहे बारातियों की बस हादसे की शिकार हो गई। इस हादसे में सात बारातियों की मौके पर ही मौत हो गई, वहीं 20 से ज्यादा बाराती गंभीर रूप से घायल हो गए। देर रात शादी से लौट रहे बरातियों की गाड़ी पंक्चर होने से सभी सड़क के किनारे खड़े होकर टाइम पास कर रहे थे। इसी दौरान वहां से गुजरी दूसरी बस ने बरातियों को रौंदते हुए आगे बढ़ गई। इस हादसे में सात लोगों की मौत हो गई, जबकि 20 से अधिक लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।

यह हादसा संभल के बहजोई थाना क्षेत्र में मुरादाबाद आगरा नेशनल हाईवे पर हुआ। बड़े हादसे की सूचना मिलते ही बएसपी चक्रेश मिश्रा भी मौके पर पहुंचे, वही गंभीर घायल बारातियों को बहजोई सीएचसी से मुरादाबाद हायर सेंटर के लिए रेफर कर दिया गया है।आपकों बता दें कि धनारी थाना इलाके के छपरा गांव निवासी सतीश के बेटे विवेक की बारात रविवार को संभल जिले के चंदौसी कोतवाली इलाके के सीता आश्रम पर गई थी। शादी समारोह में शामिल होने के बाद बाराती रविवार रात वापस गांव लौट रहे थे, तभी बहजोई थाना इलाके में मुरादाबाद-आगरा नेशनल हाईवे पर लहरावन गांव के पास बारातियों की बस में पंक्चर हो गई।

टायर पंक्चर होने के बाद चालक बस को सड़क पर ही खड़ी करके टायर बदल रहा था। इस बीच बाराती भी बस से उतर कर सड़क पर खड़े हो गए। इसी बीच चंदौसी की तरफ से आ रही तेज रफ्तार दूसरी बस ने सड़क किनारे खड़े बारातियों को रौंद दिया। वहीं सात बारातियों की मौत की खबर जब उनके गांव पहुंची तो रात में ही कोहराम मच गया।

हादसे के बाद मची चीख-पुकार

इस भीषण सड़क हादसे में सात बारातियों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 20 से ज्यादा बाराती हादसे में घायल हुए हैं। हादसे के बाद घायल बाराती दर्द से बि​लबिला पड़ें। हर तरह चीख-पुकार की आवाज आने लगी। वहीं घायल बारातियों ने ही इसकी सूचना बहजोई थाना पुलिस को मिली तो बहजोई थाना प्रभारी रविंद्र प्रताप सिंह आनन-फानन में पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। थाना प्रभारी रविंद्र प्रताप सिंह ने मौके पर पहुंचकर हादसे की जानकारी उच्च अधिकारियों को दी।पुलिस ने तत्काल घायल बारातियों को एंबुलेंस से बहजोई सीएचसी भिजवाया, जहां बहजोई सीएचसी मैं बारातियों का इलाज जारी है। वहीं बहजोई अस्पताल से गंभीर घायल बारातियों को प्राथमिक उपचार देकर मुरादाबाद हायर सेंटर के लिए रेफर कर दिया गया है। बहजोई थाना पुलिस ने 7 बारातियों की मौत के बाद मौके पर पहुंचकर सातो शवो का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेजने की कार्यवाही शुरू कर दी है।

मंजर देख कांप गया कलेजा

एनएच पर 7 बारातियों की कुचलकर मौत होने के बाद पूरी सड़क पर खून ही खून फैल गया। बहजोई थाना प्रभारी रविंद्र प्रताप सिंह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे तो सड़क पर खून से लथपथ पड़े शवो को देखकर कलेजा कांप गया। किसी तरह हिम्मत जुटार घायलों को एंबुलेंस में रखने के लिए थाना प्रभारी रविन्द्र प्रताप सिंह के साथ ही पुलिसकर्मियों को खुद जूझना पड़ा। किसी तरह लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां पहुंचे पुलिसकर्मियों ने बताया कि हादसा इतना भयानक था कि सड़क पर चारों तरफ खून ही खून फैले हुए थे।

 इनकी हुई मौत

  • वीरपाल पुत्र ओमकार उम्र 60 वर्ष निवासी ग्राम छपरा
  • विनीत कुमार पुत्र नेत्रपाल उम्र 30 वर्ष निवासी ग्राम छपरा
  • भूरे पुत्र राजपाल उम्र 25 वर्ष निवासी ग्राम कौआखेरा
  • हप्पू पुत्र राम सिंह उम्र 35 वर्ष निवासी ग्राम छपरा
  • छोटे पुत्र राजपाल उम्र 40 वर्ष निवासी ग्राम छपरा
  • राकेश पुत्र रूपसिंह उम्र 30 वर्ष निवासी ग्राम छपरा
  • अभय पुत्र रामबाबू उम्र 18 वर्ष निवासी ग्राम छपरा

इसे भी पढ़ें…

कोरोना की मार पर अध्यात्मिकता का वार: नागा साधू आनंद गिरि कर रहे 105 दिन की कठोर साधना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here