फतेहपुर : कार हादसे में पति, ससुर और दो बेटियों की मौत, मां बेटा गंभीर घायल

192
Fatehpur: Husband, father-in-law and two daughters killed in car accident, mother son seriously injured
हादसे की सूचना पर पहुंची पुलिस ने दो गंभीर रूप से घायलों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया है।

फतेहपुर। उन्नाव की एक शिक्षक का उन्नाव में ट्रांसफर हो गया था। घर शिफिटिंग के लिए प्रतापगढ़ से उन्नाव आते समय शिक्षिका की कार सड़क पर खड़े कंटेनर में पीछे से घुस गई। इस हादसे में शिक्षिका और उसका तीन वर्षीय बेटा तो बच गए, लेकिन पति, ससुर और दो बेटियों की मौत हो गई।

यह हादसा कानपुर से सटे फतेहपुर जिले के खागा में शनिवार सुबह हुआ। इस हादसे में चार लोगों की मौत हो गई।खागा के खासमऊ बाईपास पर एक तेज रफ्तार कार खड़े कंटेनर में पीछे से जा घुसी। कार की स्पीड ज्यादा होने की वजह से टक्कर इतनी भीषण थी कि कार के परखच्चे उड़ गए। हादसे की सूचना पर पहुंची पुलिस ने दो गंभीर रूप से घायलों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया है।

मालूम हो ​कि प्रतापगढ़ से कानपुर आ रहा एक परिवार शनिवार की सुबह सड़क हादसे का शिकार हो गया। खागा कोतवाली क्षेत्र के आधारपुर (हाइवे) के सामने खड़े एक कंटेनर से उनकी कार टकरा गई। हादसे में कार सवार सहायक अध्यापक नीलम वर्मा (37) पत्नी अमर सिंह व उनका तीन वर्षीय बेटा अयांश घायल हो गया। जबकि उनके पति अमर सिंह (40) (इलेक्ट्रीशियन रेलवे विभाग, गोविंदपुर स्टेशन कानपुर), उनके पिता रामकिशोर (65), दो बेटियों अनन्या (12) व तन्नो (9) निवासी झावर खेड़ा थाना बिंदकी की मौत हो गई।

रामकिशोर ने सदर अस्पताल में दम तोड़ा जबकि अन्य की मौके पर मौत हो गई। परिवार प्रतापगढ़ से शिफ्ट कर कानपुर जा रहा था। कानपुर में चकेरी में अमर सिंह का घर है। हादसे की सूचना मिलने पर स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंची घायलों को किसी तरह कार से बाहर निकाला। सभी को लेकर अस्पताल पहुंचे।

डॉक्टरों ने चेकअप के बाद चार लोगों को मृत घोषित कर दिया,जबकि दो गंभीर घायलों का इलाज किया जा रहा है। पुलिस ने चार शवों को कब्जे में लेकर पीएम के लिए भिजवा दिया। पुलिस ने घायलों की मदद से उनके परिजनों को हादसों की सूचना दी। परिजनों को सौंप दिए जाएंगे। वहीं चार लोगों की मौत की सूचना मिलते ही घर में कोहराम मच गया। परिजन रोते विलखते अस्पतला पहुंचे। पुलिस का कहना है कि मृतकों के शव पीएम के बाद आंतिम संस्कार के लिए

इसे भी पढ़ें…

आज भी देश की लगभग 70 प्रतिशत महिलाओं में खून की कमी: डॉक्टर अपेक्षा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here