Thursday, September 29, 2022
Homeउत्तर प्रदेशगोरखपुरबेटी की मोहब्बत से समाज में हो रही थी परिवार की बदनामी,...

बेटी की मोहब्बत से समाज में हो रही थी परिवार की बदनामी, इसलिए पिता ने दी दर्दनाक मौत

संतकबीरनगर। संतकबीरनगर के एक गांव की रहने वाली एक युवती का पास के ही गांव के एक युवक से प्रेम प्रसंग चल रहा था। युवती के घर वालों को युवती का यह रिश्ता मंजूर नहीं थी । पिता समेत सभी घर वाले युवती को समझाकर थक गए थे। इसके बाद भी युवती अपने प्रेमी से बात करना बंद नहीं कर रही थी। युवती के प्रेम प्रसंग से परिवार की गांव में काफी बेइज्जती हो रही थी।

इससे परिवार वाले काफी खफा थे।​ पिछले दिनों रात में युवती अपने प्रेमी से मोबाइल पर बात कर रही थी, पिता ने बेटी को टोका फिर ​भी बेटी ने पिता की बातों पर ध्यान नहीं दिया, क्योंकि वह प्रेमी से बात करने में मस्त थी। पिता को बेटी की यह हरकत नागवार गुजरी, इससे वह गुस्से में लाल-पीला हो गया पहले तो पिता ने बेटी की जमकर ​पीटाई कि फिर गला दबाकर मौत की नींद सुला दी। अगले दिन बीमारी से मौत बताकर बेटी का शव दफना दिया।

इस बीच किसी तरह पुलिस को इसकी जानकारी लगी, पुलिस ने गांव पहुंचकर मृतक के पिता से जानकारी ली तो पिता ने बीमारी से मौत का कारण बताया। पुलिस ने शंका मिटाने के लिए कब्र से शव निकलवाकर पीएम कराया। पीएम रिपेार्ट आने के बाद पुलिस का शक यकिन में बदल गया। पीएम रिपोर्ट में गला दबाकर हत्या की बात सामने आई। इसके बाद पुलिस ने आरोपित पिता को थाने लाकर पुलिसिया स्टाइल में पूछताछ की तो आरोपित काफी देर तक पुराना राग अलापता रहा। जब पुलिस ने सख्ती की तो सारी हकीकत बयां कर दिया।

पिता ने पुलिस को जो बताया उसके अनुसार उसकी बेटी एक युवक से मोहब्बत करती थी। इस वजह से घर वालों की काफी बदानमी हो रही थी। सभी ने उसे समझाने का काफी प्रयास किया, लेकिन जब वह नहीं मानी तो एक दिन आवेश में आकर उसने ​पीटाई के बाद गला दबाकर हत्या कर दी। हत्या के बाद शव को दफन कर दिया। शुक्रवार को पुलिस ने आरोपी पिता के खिलाफ हत्या कर साक्ष्य मिटाने की कोशिश के आरोप में केस दर्ज किया।

इस विषय में चौकी इंचार्ज कांटे चंदन कुमार ने बताया कि करौता गांव निवासी साहेब आलम की 18 वर्षीय पुत्री सफीना खातून की मृत्यु के मामले में जांच सामने आया कि सफीना का एक युवक से प्रेम प्रसंग चल रहा था। मृतका अपने प्रेमी से वर्षों से मोबाइल पर घंटों बात करती थी। यह बात उसके पिता साहेब आलम को काफी नागवार लगी। इससे समाज में भी पिता की काफी बेइज्जती हो रही थी। पिता के समझाने पर भी सफीना अपनी आदत से बाज नहीं आ रही थी।
30 जून की रात्रि नौ से दस बजे के बीच सफीना अपने प्रेमी से काफी देर से बात कर रही थी। इससे नाराज पिता साहेब आलम ने उसे डांटा, लेकिन वह नहीं मानी। उसके बाद पिता ने बेटी की बेरहमी से पिटाई की और गला दबाकर हत्या कर दी।

इसे भी पढ़ें…

  1. आज फिर भाजपा और सपा के बीच कुर्सी की जंग, सुबह 11 बजे से ब्लॉक प्रमुख की 476 सीटों पर होगी वोटिंग
  2. प्रेमी के शादी में पहुंचकर प्रेमिका ने किया जमकर हंगामा, पुलिस ले गई थाने
  3. भाई बहन का रिश्ता शर्मसार, बुआ के बेटे से हुआ प्यार तो शादी के पांच दिन बाद हुई फरार
Google search engine
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments