Tuesday, September 27, 2022
Homeमनोरंजनसायरा नहीं मधुबाला ​थी दिलीप साहब की पहली मोहब्बत, जानिए क्यों नहीं...

सायरा नहीं मधुबाला ​थी दिलीप साहब की पहली मोहब्बत, जानिए क्यों नहीं पूरा हुआ ख्वाब

मनोरंजन डेस्क। हिन्दी सिनेमा के ट्रजिडी किंग दिलीप कुमार ने अपने अभिनय से सबको दीवाना बना दिया था। हर कोई उनके अभिनय पर जान देने को तैयार होता था। लड़कियां उनसे शादी करने के लिए बेकरार रहती थी। क्या आपकों पता है ​कि दिलीप साहब को उनका पहला प्यार उन्हें नहीं मिला था। दिलीप कुमार जिसे पहली नजर में दिल दे बैठे थे। वह उनकी नहीं हो पाई थी, इससे अभिनेता को गहरा झटका लगा था।

हम बात कर रहे है। दिलीप कुमार और मधुबाला की लव स्टोरी की। मधुबाला और दिलीप कुमार ने पहली बार 1951 में आई फिल्म तराना में काम किया था। इसी फिल्म के दौरान मधुबाला का दिल दिलीप कुमार पर आ गया था। दिलीप कुमार को भी पहली नजर में मधुबाला से प्यार हो गया था। दोनों एक -दूसरे पर जान छिड़कने लगे थे। फिल्मी दुनिया में चलीं खबरों के अनुसार मधुबाला ने अपने प्यार का इजहार करने के लिए एक मेकअप आर्टिस्ट के हाथों दिलीप को एक गुलाब के फूल के साथ उर्दूं में लिखा खत भेजा।

इस पत्र में लिखा था अगर आप मुझे चाहते हों तो ये गुलाब कबूल किजिए,वरना इसे वापस कर दीजिए। अब मधुबाला की खूबसूरती के आगे दिलीप साहब भी फिसल गए थे दोनों के इश्क की शुरुआत यहीं से हो गई थी। दोनों का प्यार परवान चढ़ रहा था। फिल्मों में भी दोनों की जोड़ी को खूब पसंद किया जाने लगा।

बहन के हाथों भिजवाया रिश्ता

दिलीप कुमार भी मधुबाला को दिलों जाने से चाहने लगे थे। इसी दौरान एक दिन दिलीप कुमार ने अपनी बहन को मधुबाला के घर शादी का रिश्ता लेकर भेजा और कहा अगर उनके घरवाले तैयार होंगे तो वह सात दिनों में शादी कर लेंगे। लेकिन मधुबाला के पिता अताउल्ला खान ने इस रिश्ते से साफ मना कर दिया था पर दिलीप कुमार मधुबाला के आगे अपना पूरा दिल हार चुके थे। एक फिल्म शूटिंग के दौरान दिलीप कुमार ने मधुबाला से कहा की वो अब भी मधुबाला से शादी करना चाहते हैं। लेकिन इसके लिए उनकी शर्त है कि उनको अपने पिता से सारे रिश्ते तोड़ने होंगे। मधुबाला के लिए ये सब करना बेहद मुश्किल था।

कुछ जवाब ना मिलने पर वक्त था जब दिलीप मधुबाला की आंखों के सामने से उठकर हमेशा के लिए चले गए थे।इसके बाद दोनों अलग हो गए। अलग होने के बाद भी दोनों को कुछ फिल्मों में काम करना था। ऐसे में मुगले आजम इनमें से एक थी। इस फिल्म के कुछ हिस्सों की शूटिंग भोपाल में होनी थी लेकिन मधुबाला के पिता दिलीप कुमार की वजह से और बेटी की खराब तबियत के कारण आउट डोर के लिए राजी नहीं हुए।

ऐसे हुआ रिश्ते का अंत

इस मुलाकात के बाद दिलीप कुमार ने सायरा बानो से शादी कर ली। दूसरी तरफ मधुबाला ने किशोर कुमार से शादी कर ली। जब दिलीप कुमार ने बीमार मधुबाला को देखा तो वह काफी दुखी हुए थे। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक उस दिन मधुबाला के चेहरे पर एक फीकी सी मुस्कान थी। मधुबाला ने दिलीप की आंखों में देखते हुए कहा, ‘मैं बहुत खुश हूं कि हमारे शहजादे को उनकी शहजादी मिल गई।’ बीबीसी में लिखे लेख में फिल्म पत्रकार रेहान फजल ने दिलीप कुमार मधुबाला की आखिरी मुलाकात के बारे में बताया है।

Google search engine
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments