भगवान श्रीराम की पूजा-अर्चना कर डिप्टी सीएम बोले, ट्रस्ट पर आरोप लगाने वाले रामद्रोही

351
After worshiping Lord Shri Ram, Deputy CM said, Ram traitors who accuse the trust
निराधार आरोपों से न तो राममंदिर का काम रुकेगा न रामभक्तों की आस्था प्रभावित होगी। मामले को ट्रस्ट स्वयं देख लेगा ऐसे लोगों की दलील की आवश्यकता नहीं है।

अयोध्या। यूपी के उपमुख्यमंत्री बुधवार को भगवान श्रीराम की नगरी अयोध्या पहुंचे। अयोध्या में डिप्टी सीएम ने अवध विश्वविद्यालय में अरबों की योजनाओं का शिलान्यास करने के बाद हनुमानगढ़ी व रामलला के दरबार में हाजिरी लगाई। यहां भगवान रामलला की पूजा-अर्चना करने के बाद मंदिर निर्माण के लिए नींव भराई का काम भी देखा और प्रगति जानी। इसके बाद में उन्होंने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाने वाले रामद्रोही हैं।

केशव मौर्य ने समाजवादी पार्टी व आम आदमी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि जो भ्रष्टाचार का आरोप लगा रहे हैं उन्होंने राम के लिए कभी भी कोई काम नहीं किया और ना ही करेंगे। ऐसे लोगों की मंशा है कि श्रीराम मंदिर निर्माण का कार्य रुक जाए लेकिन उनके इन निराधार आरोपों से न तो राममंदिर का काम रुकेगा न रामभक्तों की आस्था प्रभावित होगी। मामले को ट्रस्ट स्वयं देख लेगा ऐसे लोगों की दलील की आवश्यकता नहीं है।

श्री मौर्य ने कहा कि रामलला के दर्शन कर मन प्रसन्न है, अपने प्रभु के मंदिर निर्माण को देखते हुए अपार खुशी महसूस हो रही है। रामलला की कृपा से ही प्रदेश का हम तेजी से विकास करने को प्रतिबद्ध हैं।इससे पूर्व उन्होंने राम मंदिर निर्माण के लिए चल रहे काम का जायजा लिया। इंजीनियरों की टीम ने डिप्टी सीएम को बताया कि अक्तूबर के अंत तक नींव भराई का कार्य पूरा हो जाएगा। मालूम हो कि सपा, कांग्रेस और आप नेताओं में मंदिर निर्माण के लिए जमीन खरीद में ट्रस्ट पर आरोप लगाया था। इसके बाद पूरे देश में श्रीराम मंदिर निर्माण ट्रस्ट सवालों के घेरे में आ गया था। इन सब आरोपों का ट्रस्ट ने सामने आकर जवाब दिया।

इस दौरान उनके साथ प्रदेश के राज्यमंत्री सुरेश पासी, गोसाईगंज विधायक खब्बू तिवारी, रुदौली विधायक रामचंद्र यादव, जिला अध्यक्ष संजीव सिंह, महानगर अध्यक्ष अभिषेक मिश्र, रामकोट वार्ड के पार्षद पुजारी रमेश दास, विहिप के प्रांतीय प्रवक्ता शरद शर्मा भी मौजूद रहे।

इसे भी पढ़ें…

वाराणसी में गंगा की लहरों पर अब डीजल की जगह सीएनजी नाव कराएंगी पर्यटकों को सैर

सायरा नहीं मधुबाला ​थी दिलीप साहब की पहली मोहब्बत, जानिए क्यों नहीं पूरा हुआ ख्वाब

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here